नयी दिल्ली। कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्षा सोनिया गांधी ने पार्टी पदाधिकारियों की बैठक में एक बार फिर से हिदायत दी। उन्होंने कहा कि हमें वैचारिक रूप से भाजपा, आरएसएस के द्वेषपूर्ण अभियान से लड़ना होगा। अगर हमें इस लड़ाई को जीतना है तो हमें दृढ़ विश्वास के साथ ऐसा करके लोगों के सामने उनके झूठ का पर्दाफाश करना चाहिए। रअसल, कांग्रेस महासचिवों और प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्षों की बैठक हुई। इस बैठक में कांग्रेस की अध्यक्षा सोनिया गांधी और पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी, संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल समेत अन्य पदाधिकारी मौजूद रहे।

युवाओं को प्रदान करें मंच
इस दौरान पार्टी अध्यक्षा ने कहा कि देश भर के युवा पुरुष और महिलाएं अपनी उम्मीदों को आवाज देने के लिए एक आंदोलन की बाट जोह रहे हैं। यह हमारा कर्तव्य है कि हम उन्हें एक मंच प्रदान करें, जैसा कि हमने पिछली पीढ़ियों के लिए किया है।
व्यापक आंदोलन खड़ा करना पड़ेगा 
उन्होंने कहा कि हमारा अपना इतिहास इस बात का गवाह है कि अगर किसी संगठन को अन्याय और असमानता के खिलाफ सफल होना है, अगर उसे हाशिए पर पड़े लोगों के अधिकारों की प्रभावी रूप से हिमायत करनी है, तो उसे जमीनी स्तर पर एक व्यापक आंदोलन खड़ा करना होगा। सोनिया गांधी ने कहा कि जवाबदेही से बचने और हमारे संविधान के मूल मूल्यों को कमजोर करने के लिए मोदी सरकार ने हमारी संस्थाओं को नष्ट करने की कोशिश की है। इसने हमारे लोकतंत्र के मूल सिद्धांतों पर ही सवाल उठाया है। आपको बता दें कि कांग्रेस की यह बैठक सीडब्ल्सी की बैठक में 3 प्रस्ताव पास हुए थे, जो सदस्यता अभियान, महंगाई के मुद्दे पर जन-जागरणअभियान और संगठनात्मक चुनाव थे, इसी पृष्ठभूमि में हुई।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.