लखनऊ: बहुजन समाज पार्टी के संस्थापक कांशीराम की आज पुण्यतिथि है. इस मौके पर पार्टी सुप्रीमो मायावती ने उन्हें श्रद्धांजलि दी. इस मौके पर अपने संबोधन में मायावती ने बाबा साहब भीमराव अंबेडकर के संविधान के तहत मिले कानूनी अधिकार और दलित और पिछड़ी जातियों के लिए बनाए हुए संगठन बसपा को मजबूत करने पर जोर दिया.
भाजपा के शासनकाल में बढ़ा दलितों पर अत्याचार
वहीं भाजपा पर हमला बोलते हुए मायावती ने कहा कि, प्रदेश और केंद्र में भाजपा की सरकार है. इस सरकार में दलितों पर काफी ज्यादा अत्याचार बढ़ा है. हाथरस की घटना इसका एक उदाहरण है. साथ ही उन्होंने कहा कि, कांग्रेस और बीजेपी जातिवादी पार्टियों को खड़ा करके बसपा के संगठन को कमजोर करने का काम कर रही हैं और उन्हें पर्दे के पीछे से खूब पैसा दे रही हैं. दलितों पर इन दिनों काफी अत्याचार हो रहा है. हर स्तर पर दलितों का शोषण जारी है. भाजपा और कांग्रेस इसके लिए जिम्मेदार हैं, क्योंकि दोनों ही पार्टी अंदर से एक हैं.
बसपा को कमजोर करने के लिए कांग्रेस और भाजपा पर्दे के पीछे से दे रही है पैसा
कांशीराम की पुण्यतिथि के मौके पर मायावती ने सबसे ज्यादा जोर अपने संगठन को मजबूत करने और आने वाले चुनाव में अपने संगठन के बलबूते पार्टी को निर्णायक भूमिका में पहुंचाने पर जोर दिया. विरोधी पार्टियों पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा की बसपा को कमजोर करने के लिए दलितों की कुछ ऐसी पार्टियां बनी हैं, जिनको पर्दे के पीछे से कांग्रेस और भाजपा पैसा दे रही हैं.
इनसे सावधान रहने की जरूरत है. क्योंकि इनके पास धन्ना सेठों का पैसा है. जबकि बसपा केवल अपने वर्ग के लोगों से ही चंदा लेती है. अपने संबोधन के दौरान मायावती ने कहा कि, बिहार चुनाव में बसपा और उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी आरएलएसपी का गठबंधन मजबूत स्थिति में है. इसके साथ ही उन्होंने केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के निधन पर गहरा दु:ख भी व्यक्त किया.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.