केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने गुरुवार को अगर पाकिस्तान ने सीमा पर अपराधों और कश्मीर में नागरिकों की हत्या को स्पॉन्सर करना जारी रखा तो सर्जिकल आगे भी हो सकता है. अपने गोवा दौरे पर केंद्रीय गृह मंत्री ने राष्ट्रीय फोरेंसिक विज्ञान विश्वविद्यालय की आधारशिला रखी. इसके बाद एक जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि देश की सीमाओं पर हमला बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. उन्होंने कहा, पुंछ में जब हमला हुआ तो पहली बार सर्जिकल स्ट्राइक कर भारत ने दुनिया को बता दिया कि भारत की सीमाओं के साथ छेड़-छाड़ करना इतना सरल नहीं. नरेंद्र मोदी और मनोहर पर्रिकर के नेतृत्व में पहली बार भारत ने अपनी सीमाओं की सुरक्षा और सम्मान साबित किया.
गोवा में राष्ट्रीय फोरेंसिक विज्ञान विश्वविद्यालय के शिलान्यास समारोह में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने ये भी कहा, ‘पूरा देश मनोहर पर्रिकर को दो चीजों के लिए हमेशा याद करेगा. उन्होंने गोवा को उसकी पहचान दी और दूसरा उन्होंने तीनों सेनाओं को वन रैंक, वन पैंशन दिया.’ उन्होंने आगे कहा, यह बताते हुए खुशी हो रही है कि राष्ट्रीय फोरेंसिक विज्ञान विश्वविद्यालय के गठन के बाद, गोवा में इसका पहला कॉलेज शुरू हो रहा है. एनएफएसयू के पांच कोर्स भी आज से शुरू होंगे.
फरवरी में गोवा में विधानसभा चुनाव
अगले साल फरवरी में गोवा में विधानसभा चुनाव होने हैं. अमित शाह दो सरकारी कार्यक्रमों में हिस्सा लेने के साथ-साथ 2022 में होने वाले राज्य विधानसभा चुनाव के मद्देनजर बीजेपी की तैयारियों का जायजा लेने के लिए गुरुवार को गोवा पहुंचे हैं. बीजेपी के गोवा चुनाव प्रभारी और महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव सीटी रवि, शाह के दो दिवसीय दौरे से पहले तैयारियों का जायजा लेने के लिए बुधवार को गोवा पहुंचे. प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष सदानंद शेत तनवड़े के अनुसार, शाह का बीजेपी की राज्य कोर कमेटी, विधायकों और पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ पार्टी की कई बैठकें करने का भी कार्यक्रम है.
अधिकारियों ने सोमवार को बताया कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह अगले पखवाड़े में जम्मू कश्मीर, अंडमान निकोबार द्वीपसमूह और उत्तराखंड की यात्रा करेंगे. शाह गोवा दौरे के बाद 15 से 17 अक्टूबर तक अंडमान निकोबार द्वीपसमूह में रहेंगे और इस यात्रा के दौरान वह केंद्रशासित प्रदेश में अनेक विकास कार्यक्रमों की समीक्षा करेंगे. वह वहां सेलुलर जेल का दौरा कर सकते हैं और ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ से संबंधित कार्यक्रमों में भाग ले सकते हैं.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.