उत्तराखंड में भारी बारिश के कारण मची तबाही से तीन दिन में कुल 72 लोगों ने जान गंवाई है. इस दौरान अलग-अलग हादसों में कम से कम 26 लोग घायल हुए और 224 घर बुरी क्षतिग्रस्‍त हो गए. प्रदेश में आई आपदा के दौरान लापता लोगों में से 4 का अभी तक कुछ पता नहीं चल सका है. उत्‍तराखंड सरकार द्वारा आई रिपोर्ट के दौरान प्रदेश में हुए कई हादसों के चलते 17 अक्‍टूबर से 19 अक्‍टूबर तक कुल 72 लोगों की मौत हो गई.
दरअसल, प्रदेश में राहत और रेस्क्यू ऑपरेशन का काम लगातार जारी है. इस बीच रविवार को मौसम ने एक बार फिर करवट बदली है. वहीं, रविवार को सुबह से ही धूप खिली रही लेकिन शाम को पहाड़ी इलाकों में बर्फबारी शुरू हो गई. प्रदेश में भारी बारिश के दौरान मैदानी इलाकों में ठंड बढ़ गई. जहां बदरीनाथ और केदारनाथ की चोटियों पर बर्फ ही बर्फ नजर आ रही है. यमुनोत्री धाम में सीजन की पहली बर्फबारी हुई. गंगोत्री की ऊंची चोटियां भी बर्फ से ढंकी हैं.
मौसम विभाग ने जारी किया यलो अलर्ट
बता दें कि मौसम विभाग के मुताबिक उत्तराखंड में भारी बारिश के बाद आई आपदा के बाद मौसम साफ रहेगा. हालांकि, देहरादून सहित अन्य शहरों में रविवार शाम को बारिश हुई. देहरादून और मसूरी में रविवार शाम को अचानक मौसम बदला और तेज बारिश हुई. फिलहाल सोमवार से 4 दिन देहरादून समेत पूरे प्रदेश में मौसम साफ रहने का अनुमान जताया गया है. IMD के मुताबिक देहरादून, हरिद्वार, उत्तरकाशी, टिहरी, रुद्रप्रयाग, चमोली, पौड़ी आदि जिलों में रविवार को बारिश संभावना जताई गई. इसके साथ ही ज्यादा ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फबारी का अनुमान जताया गया है. इसके अलावा येलो अलर्ट जारी किया है.
आगामी दिनों तक मौसम रहेगा साफ- IMD
गौरतलब है कि बादलों की तेज बारिश के साथ देरशाम तक बारिश के कई दौर चले. इस दौरान मौसम काफी ठंडा हो गया. वहीं, रविवार को देहरादून का अधिकतम तापमान 25.8 और न्यूनतम तापमान 17.2 डिग्री सेल्सियस रहा. जबकि शनिवार को अधिकतम तापमान 29.4 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड दर्ज किया था. इस हिसाब से तापमान में 3.6 डिग्री सेल्सियस की गिरावट दर्ज की गई. मौसम विभाग के अनुसार, प्रदेश में 25 से 28 अक्तूबर तक मौसम साफ रहेगा.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.