उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जीरो टॉलरेंस की नीति पर सख्ती से अमल करते हुए भ्रष्टाचार के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की है। सीएम योगी ने अब तक 600 से अधिक अधिकारियों व कर्मचारियों के खिलाफ की कार्रवाई की गई है। इनमें से 200 से अधिक अधिकारियों व कर्मचारियों को जबरन रिटायर किया है जबकि 400 से अधिक अधिकारियों और कर्मचारियों को बृहद दंड दिया गया है। यानि की अब उनका प्रमोशन नहीं होगा, साथ ही उन्हें दूसरी जगह भेज दिया जाएगा।

इनमें से ज्यादातार आईएएस और आईपीएस अफसरों पर कार्रवाई की गई है। इनकी लिस्ट तैयार कर केंद्र सरकार को भेज दी गई है जिसपर केंद्र सरकार फैसला लेगी। सरकार के प्रवक्ता श्रीकांत शर्मा के मुताबिक योगी सरकार ने पिछले 2 सालों में भ्रष्टाचार के खिलाफ जो कार्रवाई की है वह देश में अब तक किसी भी प्रदेश सरकार द्वारा उठाए गए कदम से बहुत बड़ी है। गौरतलब है कि पिछले दिनों मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सभी विभागों से भ्रष्टाचार में लिप्त दोषी व अक्षम अधिकारियों व कर्मचारियों की रिपोर्ट तलब कर उनके खिलाफ कार्रवाई के निर्देश दिए थे।

साथ ही कहा था कि जो भी दोषी हैं और अक्षम हैं उन्हें सेवा से बाहर कर दिया जाए। इसके अलावा जिन अधिकारियों की गतिविधियां संदिग्ध हैं और जिनके खिलाफ शिकायतें दर्ज हैं। उनकी सूची तैयार करने के निर्देश दिए थे। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को कार्य पद्धति सुधारने के निर्देश दिए थे।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.