यूपी विधानसभा चुनाव से पहले योगी सरकार आशा बहुओं, श्रमिकों को बड़ी सौगात देने की तैयारी में है. इसके अलावा राज्य कर्मचारियों को कैशलेस इलाज की सुविधा भी दी जाएगी. सूत्रों के अनुसार आशा बहुओं के भत्ते के रूप में 750 रुपए की बढ़ोतरी की जा सकती है. अभी आशा बहुओं को 750 रुपए भत्ता दिया जाता है. इस तरह उन्हें 1500 रुपए मिलेंगे. इसी के साथ सीएम योगी जल्द आशा बहुओं को मोबाइल सेट वितरित करेंगे.
योगी सरकार लाखों श्रमिकों को भत्ते के रूप में सौगात देने पर विचार कर रही है. भत्ते की राशि अभी तय नहीं की गई है. कर्मचारी कैशलेस इलाज की सुविधा देने के लिए उन्हें सीएम जनआरोग्य योजना में शामिल किया जा सकता है. प्रदेश किसान सम्मान निधि भी दी जा सकती है.
उत्कर्ष समारोह में हो सकती है बड़ी घोषणाएं
सीएम योगी आदित्यनाथ बुधवार को यहां आयोजित होने वाले यूपी ग्राम उत्कर्ष समारोह में पंचायत प्रतिनिधियों के हितों में कई महत्वपूर्ण घोषणाएं कर सकते हैं. इसके तहत प्रधानों के मानदेय की राशि 3500 से बढ़ाकर 5 हजार रुपए तक हो सकती है. राजधानी के वृंदावन योजना स्थित डिफेंस एक्सपो मैदान आयोजित होने वाले इस समारोह में करीब सवा लाख पंचायत प्रतिनिधि और नव नियुक्त पंचायत सहायक जुटेंगे. इस समारोह में पंचायती राज मंत्री चौधरी भूपेंद्र सिंह, पंचायतीराज उपेंद्र तिवारी भी मौजूद रहेंगे.
विधानसभा में हंगामा
उत्तर प्रदेश में आज से विधानसभा का शीतकालीन सत्र शुरू हो गया है. सत्र के पहले दिन विपक्ष ने लखीमपुर हिंसा पर एसआईटी रिपोर्ट पर जमकर हंगामा कर रहा है. कांग्रेस और सपा के विधायक केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के इस्तीफे की मांग को लेकर धरने पर बैठ गए.
शीतकालीन सत्र तीन दिन तक चलेगा. यूपी में अगल साल विधानसभा चुनाव होना है, ऐसे में माना जा रहा है कि ये चुनाव से पहले विधानसभा का अखिरी सत्र है. जहां बीजेपी का जोर यूपी की सत्ता में बने रहने का है. वहीं ऐसे में इस सत्र में होने वाले ऐलानों में इसका असर दिख सकता है. सपा-कांग्रेस समेत सभी विपक्षी दल भी अपने स्तर पर बीजेपी को घेरने में लगी हैं. विपक्ष कानून व्यवस्था, महंगाई, कोरोना और लखीमपुर खीरी समेत अन्य मुद्दों पर सदन में सरकार पर हमलवार नजर आ रहा है. इस सत्र में माना जा रहा है बीजेपी बड़े ऐलान कर सकती है.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.