बलिया: जनपद से एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है, जहां बीजेपी नेता ने अपनी लाइसेंसी असलहे से सीओ, एसओ और एसडीएम की मौजूदगी में एक युवक की गोली मारकर हत्या कर दी. जिले के रेवती थाना क्षेत्र के दुर्जनपुर में बैरिया के CO-SO और SDM के सामने बीजेपी नेता धीरेन्द्र सिंह ने जय प्रकाश पाल के सीने में गोली मार दी, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई.
वहीं, घटना को अंजाम देने के बाद आरोपी धीरेंद्र सिंह मौके से फरार हो गया. मिली जानकारी के अनुसार कोटे की दुकान को लेकर दोनों में विवाद चल रहा था, जिसको लेकर एसडीएम और सीओ गांव में कोटे के विवाद की पंचायत कराने पहुंचे थे. वहीं बलिया में हुए इस हत्याकांड को लेकर शासन स्तर पर हलचल तेज हो गई है.
अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने घटना को लेकर सख्त निर्देश दिए हैं और जिले के डीएम-एसपी को मौके पर पहुंचकर कानून-व्यवस्था की स्थिति संभालने के निर्देश दिए हैं. इसके साथ ही डीआईजी आजमगढ़ सुभाष चंद्र दुबे को भी मौके पर पहुंचने के निर्देश दिए गए हैं और उनसे मामले की शुरुआती जांच रिपोर्ट मांगी गई है.
इस संबंध में प्रभारी निरीक्षक रेवती ने बताया कि कोटे की दुकान को लेकर ग्राम सभा दुर्जुनपुर में उपजिला अधिकारी एंव अन्य अधिकारियों की मौजूदगी में किया जा रहा था. इसमें विवाद बढ़ने पर बीजेपी नेता धर्मेंद्र सिंह ने जयप्रकाश पाल को गोली मार दी.
दरअसल, एक-एक दुकान आवंटन के लिए चार समूहों ने आवेदन किया था. दुर्जनपुर के दुकान के लिए मां शायर जगदंबा और शिव शक्ति स्वयं सहायता समूह के बीच वोटिंग चल रही थी, जिस पर मौके पर मौजूद एसडीएम सुरेश कुमार पाल और सीओ चन्द्रकेश सिंह एवं बीडीओ गजेन्द्र प्रताप सिंह ने कहा कि वोटिंग वहीं कर सकेगा, जिसके पास आधार कार्ड होगा. इस दौरान एक पक्ष के लोग आधार कार्ड लेकर आए थे, लेकिन दूसरे पक्ष के लोग पहचान पत्र लेकर नहीं आए थे. इसी को लेकर हंगामा शुरू हो गया. वहीं स्थिति को बिगड़ता देख उप जिला अधिकारी एवं खंड विकास अधिकारी बैरिया गजेंद्र प्रताप सिंह ने बैठक की कार्यवाही स्थगित कर चले गए.
हंगामा शुरु होने पर मौके पर रेवती थाने के उप निरीक्षक सूर्यकान्त पाण्डेय, सदानंद यादव सहित पुलिस के जवान पहुंचे. इसी बीच असलहे से फायरिंग शुरु हो गई और जय प्रकाश पाल नाम के युवक को चार गोली लग गई और वह जमीन पर गिर गया. आनन-फानन में उसे सीएचसी सोनबरसा ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने जयप्रकाश को मृत घोषित कर दिया. वहीं इस वारदात में तकरीबन एक दर्जन लोग घायल हुए हैं. इनका इलाज सीएचसी सोनबरसा सहित निजी चिकित्सालयों में चल रहा है.
बलिया जिले में हुए इस हत्याकांड के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने घटना का संज्ञान लेते हुए वारदात के समय मौजूद एसडीएम, सीओ और पुलिस के जवानों को तत्काल निलंबित करने के निर्देश दिए हैं. इसके साथ ही सीएम ने अधिकारियों की भूमिका की भी जांच करने के निर्देश दिए हैं.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.