देश में 21 दिनों का लॉकडाउन और लगातार बढ़ते कोरोना के नए मामलों के बीच प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी कल यानी शुक्रवार की सुबह 9 बजे वीडियो संदेश देंगे। प्रधानमंत्री मोदी ने खुद ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी है।

इससे पहले, पीएम मोदी ने 24 मार्च को राष्ट्र के नाम संबोधन में कोरोना वायरस के चलते देश को 21 दिनों तक लॉकडाउन करने का ऐलान किया था। उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा कि था कि जो जहां हैं, वहीं रहें। यह लॉकडाउन आपके भविष्य के लिए बेहद जरूरी है। प्रधानमंत्री ने लोगों से किसी भी कीमत पर घर के बाहर नहीं निकलने की सलाह दी है। अपने संबोधन के दौरान उन्होंने कहा कि 22 मार्च को जनता कर्फ्यू का संकल्प जो हमने लिया था उसकी सिद्धी के लिए भारत के लोगों ने योगदान दिया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन में यह भी कहा कि संपूर्ण लॉकडाउन के दौरान जरूरी की सेवाएं जारी रहेंगी। जैसे अस्पताल, दूध, सब्जी और दवाई दुकान। प्रधानमंत्री मोदी ने लोगों को अंधविश्वास और अफवाहों से बचने की भी सलाह दी थी।

हालांकि, कई जगहों से लॉकडाउन के उल्लंघन के मामले आए हैं। देशी राजधानी दिल्ली के निजामुद्दीन के मामला सामने आने के बाद कोरोना के मामले और तेजी से बढ़े हैं। संक्रमण का केंद्र बन चुके दिल्ली स्थित निजामुद्दीन मरकज के तबलीगी जमात में हाल में शामिल हुए देशभर के करीब 9000 लोगों की पहचान कर क्वारंटाइन किया जा चुका है।

 

देश भर में तबलीगी जमात के जो 9000 लोगों की पहचान की गई है, उनमें से 1300 लोग विदेशी हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल के मुताबिक बीते 24 घंटे में कोरोना के 328 नए मामले सामने आए हैं। से संक्रमित 12 लोगों की जान गई है। साथ ही उन्होंने यह भी बताया है कि 151 लोग स्वस्थ हो चुके हैं।

लव अग्रवाल ने एक तबलीगी जमात से जुड़े लोगों के कोरोना संक्रमण का आंकड़ा पेश करते हुए बताया कि तमिलनाडु से 173, राजस्थान से 11, अंडमान निकोबार से 9, दिल्ली से 47, तेलंगाना से 33, आंध्र प्रदेश से 67, असम से 16, जम्मू-कश्मीर से 22 और पुदुचेरी से दो पॉजिटिव केस मिले हैं।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.