गुजरात पुलिस ने पटेल आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल को ‘गुमशुदा’ घोषित किया है। 22 वर्षीय हार्दिक के वकील के अनुसार, राज्‍य के सौराष्‍ट्र क्षेत्र के हलवाड़ में पुलिस ने उन्‍हें ‘गुमशुदा’ घोषित किया। बीती देर रात गुजरात हाईकोर्ट ने राज्‍य सरकार को आदेश दिए थे कि हार्दिक को गुरूवार से पहले उसके समक्ष पेश किया जाए।
पटेल के वकील बीएम मंगुकिया ने आज कहा कि ‘हार्दिक पटेल ने उन्‍हें मैसेज किया था और वह उनसे मिलने हलवाड़ जा रहे हैं। ‘ हलवाड़ अहमदाबाद से करीब 155 किलोमीटर दूर है। hpमंगुकिया ने कल हाईकोर्ट में कल याचिका दायर कर कहा था कि पुलिस ने हार्दिक को गैरकानूनी तरीके से हिरासत में लिया। उन्‍होंने कहा, हार्दिक का अभी अता-पता नहीं है और हमें नहीं पता कि वो कहां है। हमें बाद में पता चला कि राज्‍य सरकार हार्दिक और उनके समर्थकों को पिछले दो दिनों से धमकी दी जा रही थी। उनसे विरोध-प्रदर्शन समाप्‍त करने को कहा जा रहा था। जबकि पुलिस का कहना था कि 22 साल के हार्दिक पटेल कस्टडी में लेने से पहले ही भाग गए।
गुजरात हाईकोर्ट ने बीती देर रात 2.30 बजे आदेश जारी कर हार्दिक को गुरूवार तक उसके सामने पेश करने कहा था। पुलिस महानिरीक्षक हंसमुख पटेल ने कहा, ‘हार्दिक ने बिना पूर्व अनुमति के आज बायद तालुका के तेनपुर गांव में एक जनसभा का आयोजन किया। जब हमें उसके बारे में पता चला, हमारी पुलिस टीम उन्हें गिरफ्तार करने के लिए वहां गई लेकिन वह गिरफ्तारी से बचने के लिए वहां से भाग गए।’ इसके बाद पुलिस ने पटेल और उनके साथियों के खिलाफ मुकदमा दायर किया।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.