भारतीय क्रिकेट टीम ने वेस्ट इंडीज को जमैका टेस्ट में 257 रनों से हराकर दो टेस्ट मैचों की सीरीज 2-0 से अपने नाम कर ली। भारत ने पहला टेस्ट 318 रनों से जीता था। विराट कोहली की कप्तानी में भारत की यह 28वीं टेस्ट जीत है। इसके साथ ही कोहली ने एक और रेकॉर्ड अपने नाम कर लिया है। वह भारत के सबसे कामयाब टेस्ट कप्तान बन गए हैं। उन्होंने महेंद्र सिंह धोनी के 27 टेस्ट जीत के रेकॉर्ड को तोड़ दिया।

भारतीय टीम ने वेस्ट इंडीज के सामने चौथी पारी में 468 रनों का लक्ष्य रखा था, लेकिन मैच के चौथे दिन दूसरे सेशन में विंडीज की टीम 210 रनों पर ऑल आउट हो गई। भारत ने अपनी पहली पारी में 416 रन बनाने के बाद वेस्ट इंडीज को 117 रनों पर ऑल आउट कर दिया था।

299 रनों की बड़ी बढ़त होने के बावजूद कोहली ने फॉलोऑन न देने का फैसला किया और दोबारा बल्लेबाजी की। अपनी दूसरी पारी में भारत ने चार विकेट पर 168 रन बनाकर पारी घोषित कर दी थी।

जीत के बाद कप्तान कोहली ने कहा कि जीत का यह रेकॉर्ड इस टीम के बिना संभव नहीं था। उन्होंने इस मौके पर गेंदबाजों की खूब तारीफ की। उन्होंने कहा कि इनके बिना यह संभव नहीं था।

कोहली ने अपने 48वें टेस्ट मैच में यह जीत हासिल की। वहीं महेंद्र सिंह धोनी ने 60 में से 27 मैच जीते थे और सौरभ गांगुली ने 49 में से 21 मैचों में जीत हासिल की थी। मोहम्मद अजहरुद्दीन ने 14 टेस्ट मैचों में जीत हासिल की थी। कोहली की अगुआई में अब तक भारत सिर्फ 10 टेस्ट हारा है जबकि धोनी की कप्तानी में टीम को 18 मैचों में शिकस्त का सामना करना पड़ा। भारत के बाहर यह कोहली की 13वीं जीत थी। इस लिहाज से भी वह सबसे सफल भारतीय कप्तान हैं। उन्होंने सीरीज के पहले मैच में सौरभ गांगुली के 11 जीत के रेकॉर्ड को तोड़ा था।

वनडे की बात करें तो धोनी सबसे सफल भारतीय कप्तान हैं। उन्होंने 200 में से 110 मैच जीते हैं। मोहम्मद अजहरुद्दीन 90 और सौरभ गांगुली ने 76 मुकाबले जीते हैं। वहीं विराट कोहली ने 80 में से 58 एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मुकाबले जीते हैं।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.