बिजली विभाग की लापरवाही के कारण बुधवार को राजधानी की करीब पांच लाख आबादी को लगभग आठ घंटे भीषण बिजली संकट झेलना पड़ा। स्मार्ट मीटर के साफ्टवेयर में तकनीकी खामी के कारण करीब एक लाख घर व दुकानों में बिजली कनेक्शन कट गया, जबकि इनमें से अधिकांश उपभोक्ताओं का बिजली बिल जमा था। इसमें कई अस्पताल, अपार्टमेंट व आवश्यक सेवाओं से जुड़े भवन भी शामिल थे। साथ ही प्रदेश सरकार के कई मंत्रियों के आवास भी शामिल थे। शाम के वक्त बिजली गुल होने से सड़कों पर अंधेरा छा गया। घरों में पानी का संकट खड़ा हो गया। इससे पूरे शहर में हाहाकार मच गया।

उपकेंद्रों पर जड़ा ताला, कर्मचारियों को बनाया बंधक
कृष्ण जन्माष्टमी को बिजली न आने से परेशान लोगों ने उपकेंद्र से लेकर टोल फ्री नंबर 1912 तक सम्पर्क साधा, लेकिन किसी ने फोन नहीं उठाया। वहीं बिजली अभियंताओं से लेकर पावर कॉरपोरेशन के अधिकारियों तक मोबाइल लगातार व्यस्त रहा। इससे लोगों का गुस्सा भड़क गया। आक्रोशित लोगों ने गोमतीनगर, कमता, चिनहट, सआदतगंज, चौक, ठाकुरगंज, आशियाना, पारा, जानकीपुरम, विकासनगर सहित अधिकांश उपकेंद्रों पर हंगामा किया। इस दौरान नाराज लोगों की कर्मचारियों से तीखी नोकझोंक हुई। उग्र भीड़ ने अपट्रॉन और राजाजीपुरम उपकेंद्र पर ताला लगाकर बिजलीकर्मियों को बंधक बना दिया। नाराज उपभोक्ताओं ने बताया कि बिजली बिल जमा होने के बावजूद कनेक्शन कट गया। वहीं कई उपभोक्ताओं का सिर्फ एक महीने का बिल बकाया था। शाम के वक्त बिजली न आने से घरों में पानी भी नहीं आया।

चौक और सआदतगंज में पुलिस फोर्स बुलानी पड़ी

हंगामा बढ़ता देख चौक, ठाकुरगंज, सआदतगंज सहित कई उपकेंद्रों पर पुलिस फोर्स को बुलाना पड़ा। इसके बावजूद लोग उपकेंद्रों पर डटे रहे। जिसके बाद पुलिस ने लाठियां फटकार कर भीड़ को तितर-बितर किया।

बिल जमा, मीटर चालू फिर भी बिजली गुल

बीकेटी के जीपीआरए उपकेंद्र में बिजली कनेक्शन कटने से नाराज लोगों ने बताया कि बिजली बिल जमा है। घर में मीटर में करंट आ रहा है, लेकिन बिजली सप्लाई गुल है। कृष्ण जन्माष्टमी के अवसर पर घरों को झालरों से सजाया था। इसके बावजूद बिजली विभाग की लापरवाही के कारण चारो तरफ अंधेरा है। इसके अलावा उतरेठिया में भी बिल जमा होने के बावजूद कनेक्शन कटने से नाराज लोगों ने हंगामा किया।

5 लाख 10 हजार आबादी प्रभावित

लखनऊ में स्मार्ट मीटर 1.75 लाख
बिजली कनेक्शन कटा  1.02 लाख
कुल आबादी प्रभावित   5.10 लाख
बिजली संकट                08 घंटे

इन उपकेंद्रों पर हंगामा हुआ

ठाकुरगंज, अपट्रॉन, नूरबाड़ी, कमता, लौलाई, विक्टोरिया, आजाद नगर, बालाघाट, राधाग्राम, चौपटिया, गऊघाट, मेडिकल कॉलेज, आशियाना, उतरेठिया, जीपीआरए, विश्वासखंड, राजाजीपुरम, सरोसा-भरोसा, एफसीआई, विकासनगर, इंजीनियरिंग कॉलेज, जानकीपुरम विस्तार सहित 60 उपकेंद्रों पर हंगामा हुआ।

स्मार्ट मीटर के सॉफ्टवेयर में तकनीकी खराबी के कारण बिजली बिल जमा होने के बावजूद कनेक्शन कट गये। सभी उपभोक्ताओं के कनेक्शन देर रात तक जोड़ने का काम चलता रहा।- सूर्यपाल गंगवार, प्रबंध निदेशक, मध्यांचल निगम

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.