देशवासियों को राम मंदिर बनाने का वादा करके 2014 में लोकसभा चुनाव जीत कर सत्ता में आए पीएम मोदी ने 4 साल 6 महीने गुजरने के बाद अभी तक ये वादा पूरा नहीं किया है। वहीं अब राम मंदिर को लेकर राष्‍ट्रीय स्‍वयं सेवक संघ (आरएसएस) और विश्‍व हिंदू परिषद (वीएचपी) दिल्‍ली के रामलीला मैदान में 9 दिसंबर को मेगा रैली करने जा रहे हैं।

जानकारी के अनुसार इस रैली में आठ लाख लोगों के पहुंचने ही उम्‍मीद है, जिसमें बड़ी संख्या में साधु-संत भी शामिल होंगे। अखिल भारतीय संत समिति द्वारा नौ दिसंबर को दिल्‍ली के रामलीला मैदान में मेगा रैली का आयोजन किया गया है। इस रैली के जरिए सरकार से राममंदिर पर कानून बनाने और अध्‍यादेश लाने की मांग की जाएगी। इस रैली का मकसद अयोध्या में राम मंदिर बनाने के लिए जनता का समर्थन जुटाना होगा। आरएसएस ने रैली निकालने का फैसला ऐसे वक्त में किया है जब सुप्रीम कोर्ट ने बाबरी मस्जिद-राम जन्मभूमि जमीन विवाद पर सुनवाई को जनवरी 2019 तक के लिए टाल दिया है। आरएसएस के अंबरीश कुमार ने मीडिया को बताया कि इस रैली में पांच से 10 लाख लोगों के शामिल होने की उम्मीद है। उन्होंने बताया कि इस रैली में शामिल होने वाले लोगों से राम मंदिर निर्माण को लेकर राय मांगी जाएगी। बता दें राम जन्मभूमि- बाबरी मस्जिद जमीन विवाद पर इलाहाबाद हाईकोर्ट के 2010 के फैसले के खिलाफ 14 याचिकाएं लगाई गई हैं।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.