लखनऊ। कोरोनो वायरस संक्रमण के बीच उत्तर प्रदेश सरकार ने बड़ी राहत दी है। उत्तर प्रदेश सरकार ने कोरोना टेस्ट के लिए इस्तेमाल होने वाले आरटीपीआरआर परीक्षण किट की कीमत में बड़ी कटौती की घोषणा की है। इसके तहत यूपी सरकार ने प्राइवेट लैब सहित सभी लैब में कोविड-19 टेस्टिंग की फीस 2,600 रुपये से घटाकर 1,600 रुपये कर दी है।
राज्य के अतिरिक्त मुख्य सचिव अमित प्रसाद ने कहा, “COVID परीक्षणों के लिए उपयोग किए जाने वाले RTPCR टेस्ट किट की कीमतों में कमी आई है। इसलिए, टेस्ट के मूल्य में संशोधन किया गया है। राज्य में टेस्ट की अधिकतम कीमत अब 1,600 रुपये होगी।
राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने कहा कि इस आदेश को तत्काल प्रभाव से लागू कर दिया गया। आदेश के अनुसार, ट्रूनेट के माध्यम से COVID-19 पुष्टिकरण परीक्षण की कीमत भी 1,600 रुपये तय की गई थी। इसमें कहा गया है कि महामारी अधिनियम के तहत निर्धारित शुल्क से अधिक शुल्क वसूलने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
यह दूसरी बार है जब COVID-19 परीक्षण की कीमत कम की गई थी। जब प्राइवेट लैब्स को पहले RTPCR के माध्यम से परीक्षण की अनुमति दी गई थी, तो प्रत्येक परीक्षण का शुल्क 4,500 रुपये था जो अप्रैल में घटकर 2,500 रुपये हो गया। नए आदेशों के अनुसार, अब लैब्स 1,600 रुपये प्रति टेस्ट से अधिक शुल्क नहीं ले सकती हैं।
एक वरिष्ठ स्वास्थ्य अधिकारी ने कहा कि कीमत कम करने का उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि अधिकतम संख्या में लोगों का परीक्षण किया जाए। निदेशक सूचना, शिशिर ने कहा, “गुरुवार को, यूपी ने 1,50,652 टेस्ट किए और राज्य में अब तक किए गए कुल टेस्ट 72,17,980 हैं। गुरुवार को 1,50,652 परीक्षणों में से 50,000 टेस्ट RTPCR पर किए गए थे। यह यूपी की एक रिकॉर्ड उपलब्धि है। राज्य भारत में अधिकतम टेस्ट कर रहा है।”

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.