सुलतानपुरः पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के किसानों समेत हजारों नागरिकों से हुई 500 करोड़ की ठगी को मेनका गांधी ने संज्ञान लिया है. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी को पत्र भेजकर ईडी से जांच कराने की मांग उठाई है. प्रकरण में उत्तर प्रदेश के विभिन्न जिलों में अब तक 26 मुकदमे ठगी के खिलाफ दर्ज हैं.
दरअसल, अनी बुलियन ट्रेडर्स के प्रोपराइटर अजीत गुप्ता और उनकी आईएफएस पत्नी निहारिका सिंह ने मिलकर कंपनी बनाई, जिससे कई शाखाएं निकलीं. अनी विजन इंडिया क्रेडिट कोऑपरेटिव सोसाइटीज, अनी सिक्योरिटीज प्राइवेट लिमिटेड, अनिल राजावत इंफ्रा प्राइवेट लिमिटेड, अनी श्री साईं इंफ्रा प्राइवेट लिमिटेड, अनी ज्वैल्स प्राइवेट लिमिटेड, अनी सिक्योरिटीज प्राइवेट लिमिटेड नामक कंपनियों के जरिए सुल्तानपुर, अयोध्या, लखनऊ से अमेठी समेत उत्तर प्रदेश के कई जिलों में सोसाइटी संचालित कर रखी थी.
हजारों किसान और नागरिकों का पैसा लेकर लगभग 500 करोड़ों की ठगी करते हुए कंपनी के संचालक भूमिगत हो गए थे, जिसमें प्रोपराइटर अजीत गुप्ता और उनके भाई राम गोपाल गुप्ता, विष्णु गुप्ता को लखनऊ पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था. इस समय जिला कारागार लखनऊ में निरूद्ध हैं.
सुलतानपुर से सांसद मेनका गांधी ने किसानों से बड़े पैमाने पर हुई ठगी को संज्ञान में लिया है, जिसमें बड़े पैमाने पर पूर्वांचल एक्सप्रेसवे के लिए अपनी जमीन दे चुके किसान शामिल हैं. यह किसान अपनी जमीन का मुआवजा ले चुके हैं और मुआवजे में मिली करोड़ों की धनराशि कंपनी में लगाई और कंपनी फरार हो गई. पूरे प्रकरण में सांसद मेनका गांधी ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी को पत्र लिखा है. पत्र के जरिए ईडी से जांच करने की मांग की है.
जिले के नगर कोतवाली और बल्दीराय समेत 26 मुकदमे उत्तर प्रदेश के विभिन्न जिलों में पंजीकृत हैं. अलग-अलग विवेचना की जा रही है. अनी बुलियन कंपनी की संपत्तियां एकत्र कर कार्रवाई हो इसके लिए निवेशकों ने ईडी से जांच कराने की मांग मेनका गांधी के समक्ष उठाई थी, जिसे संज्ञान में लेते हुए उन्होंने पत्र लिखा है.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.