यूपी बोर्ड के नतीजे घोषित

मेधावियों की खुशी को योगी सरकार ने किया दोगुना

टॉपर्स के नाम से जानी जाएगी उनके घर तक जाने वाली सड़क

टॉपर्स को 1-1 लाख रुपये और लैपटॉप देगी योगी सरकार

10वीं में 83.31% और 12वीं में 74.63% छात्र हुए पास

यूपी बोर्ड 10वीं-12वीं परीक्षाओं के परिणाम घोषित होने के बाद छात्र-छात्राओं में खुशी का माहौल है, वहीं इस खुशी को दोगुना करते योगी सरकार ने मेधावियों के लिए ज़बरदस्त तोहफे का एलान कर दिया है। योगी सरकार ने टॉपर्स को 1-1 लाख रुपये और लैपटॉप देने का ऐलान किया है, साथ ही टॉपर्स को सड़क की भी सौगात दी जाएगी। मतलब टॉपर्स के घर तक जाने वाली सड़क का नामकरण उनके नाम पर किया जाएगा। इतना ही नहीं,  जिन टॉपर्स के घर तक पक्की सड़क नहीं है, वहां पक्की सड़क का निर्माण कराया जाएगा।

टॉपर्स के नाम से बनेगी पक्की सड़क

उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा है कि यूपी बोर्ड से 10वीं और 12वीं में टॉप करने वाले 20-20 छात्र-छात्राओं के घर तक सरकार शानदार पक्की सड़क बनाएगी। मौर्य ने कहा है कि यूपी बोर्ड के अलावा सीबीएसई, आईसीएसई और अन्य बोर्ड के टॉपर्स के घर तक भी पक्की सड़क का निर्माण कराया जाएगा।

 खस्ताहाल सड़कों को भी दुरुस्त करवाएगी सरकार

इसके अलावा यूपी के डिप्टी सीएम ने कहा है कि सरकार खस्ताहाल सड़कों को जल्द दुरुस्त करेगी उन्होंने कोरोना के बढ़ते संक्रमण पर भी गंभीर चिंता व्यक्त की और प्रदेशवासियों से बचाव के लिए सरकार की ओर से जारी गाइडलाइंस का अनुपालन करने की अपील की। डिप्टी सीएम ने कहा कि कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग का पालन और मास्क का उपयोग बेहद जरूरी है.

 किसने कहां किया टॉप

  • 10वीं की परीक्षा में बागपत के श्रीराम एसएम इंटर कॉलेज की रिया जैन ने 67 फीसदी अंक के साथ टॉप किया।
  • 12वीं में बागपत के श्रीराम एसएम इंटर कॉलेज के अनुराग मलिक ने 97 फीसदी अंक के साथ प्रदेश में पहला स्थान प्राप्त किया।
  • 10वीं की परीक्षा में श्री साईं इंटर कॉलेज बाराबंकी के अभिमन्यु वर्मा ने 83 अंक प्राप्त किए।
  • बाराबंकी के ही सद्भावना इंटर कॉलेज के योगेश प्रताप सिंह 33 फीसदी अंक के साथ दूसरे स्थान पर रहे।
  • 12वीं में एसपी इंटर कॉलेज प्रयागराज के प्रांजल सिंह 96 फीसदी अंक के साथ दूसरे और गोपाल इंटर कॉलेज औरैया के उत्कर्ष शुक्ला 80 फीसदी अंक के साथ तीसरे स्थान पर रहे।

अनुराग कैसे बने टॉपर ?

बोर्ड की तैयारी के दौरान, मलिक ने बताया, “मैं दिन में 12-14 घंटे पढ़ाई करता था और जब परीक्षा पास होती थी, तो यह 18 घंटे तक हो जाती थी। मैं सेलेबस को पूरा करने के लिए एक समय तय करता था। जब तक मैं अपना सेलेबस पूरा नहीं कर लेता था, मैं हिलता नहीं था।

अनुराग ने कक्षा 12 में अपने विषयों के रूप में अंग्रेजी, हिंदी, भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान और गणित था और 100 में से 99 अंकों के साथ भौतिकी में सर्वोच्च अंक प्राप्त किए थे. मैंने अपने सभी विषयों को समान समय दिया था लेकिन मेरा भौतिकी के प्रति झुकाव है. मुझे यह जानने में दिलचस्पी है कि चीजें कैसे काम करती हैं और इसीलिए, मुझे लगता है, मुझे इसमें सबसे ज्यादा फायदा हुआ है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.