लखनऊ। विभूतिखण्ड थाना क्षेत्र में बीते सोमवार की रात जिस युवक की फांसी का मामला सामने आया था। उस मामले में पीएम रिपोर्ट के बाद नया मोड आ गया। पीएम रिपोर्ट आने के महज एक घंटे में विभूतिखंड पुलिस ने  मुकदमा दर्ज कर दो अभियुक्तों को गिरफ्तार कर सलाखों के पीछे भेज दिया। प्रभारी निरीक्षक विभूति खंड श्याम बाबू शुक्ला ने इस हत्याकांड से पर्दा महज एक घंटे के भीतर उठाते हुए बताया कि पुलिस का कहना है कि हत्या को छुपाने के लिए पिता ने बेटे को फंदे से लटका दिया था। पीएम रिपोर्ट में मृत्यु का कारण हेड इंजरी आई, जिसके आधार पर मृतक के पिता जयसरन पुत्र गया प्रसाद व मृतक के भाई अंकित के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत कर तत्काल दोनों आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है।
इन्स्पेक्टर विभूति खंड श्याम बाबू शुक्ला ने बताया कि विभवखण्ड निवासी अनुपम विश्वकर्मा पुत्र जयशरण विश्वकर्मा के फाँसी लगाकर मृत्यु की सूचना प्राप्त हुयी थी। जिस सूचना पर उनि सुरसरि शुक्ला ने मृतक का पंचायतनामा भरा, मंगलवार की रात्रि में पीएम रिपोर्ट प्राप्त होने के बाद मृत्यु का कारण हेड इंजरी आई। जिसके आधार पर उप निरीक्षक सुरसरि शुक्ला ने मृतक के पिता जयसरन पुत्र गया प्रसाद व मृतक के भाई अंकित को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो भेद खुल गया। पूछताछ के दौरान  अभियुक्तों ने बताया कि मृतक रोज़ रात को बाहर घूमता था। रात में भी वह वह बाहर घूम कर आया। इसी बात पर पिता व भाई ने मृतक को डाँटा तो मृतक ने अपना मोबाइल फेंक दिया। इसी बात पर पिता ने घर में रखे डन्डे से सर पर दो डन्डे मार दिया जिससे उसकी मृत्यु हो गयी। मृत्यु को छिपाने के लिये पुलिस के सामने पंखे से लटकाकर फाँसी लगाकर आत्महत्या करने की झूठी कहानी बताई। पुलिस ने दोनों के खिलाफ मुक़दमा पंजीकृत कर तत्काल दोनों अभियुक्तों को गिरफ़्तार कर लिया।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.