लखनऊ: कुछ पैसा जमाकर एलडीए की संपत्ति आवंटित कराने और फिर बकाया फंसाने वालों के आवंटन अब निरस्त किये जायेंगे. ऐसे करीब 2100 डिफॉल्टर्स की सूची एलडीए ने तैयार कर ली है. जल्द ही ऐसे आवंटियों को नोटिस भेजा जाएगा. फिर भी जो किशतें जमा नहीं करेगा उनका आवंटन निरस्त किया जाएगा. जिन दंपत्तियों का आवंटन निरस्त होगा, उनको एलडीए ‘पहले आओ, पहले पाओ’ की स्कीम में बेचेगा.
आवंटन होंगे निरस्त
वैसे तो किश्तें जमा न करने वालों की फेहरिस्त काफी लंबी है. लेकिन पहले चरण में एलडीए ने उन आवंटियों को चिन्हित किया है, जिन्होंने 50 फीसदी से भी कम रकम जमा की है. एलडीए अधिकारियों की माने तो ऐसे आवंटियों की संख्या करीब 2100 है. वैसे तो इन आवंटियों को राहत देने के लिए शासन के निर्देश पर एकमुश्त समाधान योजना भी चलाई गई, लेकिन ये वो आवंटी हैं जिन्होंने इसमें भी आवेदन नहीं किया.
इनमे करीब 900 संपत्तियां ऐसी हैं, जिनमें 25 फीसदी से भी कम रकम जमा है. वहीं, कई ऐसे आवंटी भी हैं जिन्होंने सिर्फ पंजीकरण शुल्क जमा किया है. इन सबके चलते एलडीए की सैंकड़ों करोड़ की संपत्तियां फंस%0 पड़ी हैं. अब इन आवंटियों को 15 दिन का नोटिस जारी किया जाएगा. फिर भी पैसा न जमा करने पर पब्लिक नोटिस जारी कर आवंटन के निरस्तीकरण की कार्रवाई होगी.
हटेंगे अवैध कब्जे
वहीं, दूसरी ओर एलडीए एक बार फिर से बड़े स्तर पर अवैध कब्जों और निर्माण पर बुलडोजर चलाने की तैयारी में है. 1-2 दिन के अंदर ही अभियान शुरू किया जाएगा. इसमे प्रत्येक जोन में एक दिन में कम से कम 5 अवैध निर्माण पर कार्रवाई की योजना है. ऐसे अवैध कब्जेदारों की सूची तैयार कर ली गयी है.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.