देश भर में आज ईद-उल-अजहा (बकरीद) का त्योहार मनाया जा रहा है। वैश्विक महामारी कोरोना को देखते हुए ज्‍यादातर लोगों ने घरों पर रहकर नमाज पढ़ी तो कुछ लोग मस्जिदों में भी पहुंचे। दिल्‍ली की जामा मस्जिद में सुबह छह बजकर पांच मिनट पर नमाज अदा की गई। फतेहपुरी मस्जिद में भी लम्‍बे अरसे बाद रौनक दिखाई दी। लोगों ने बच्‍चों के साथ वहां पहुंचकर नमाज अदा की।

अल्‍पसंख्‍यक मामलों के केंद्रीय मंत्री मुख्‍तार अब्‍बास नकवी ने घर पर ही नमाज अदा की। इस मौके पर उन्‍होंने कहा कि कोरोना संकट दुनिया के सामने है। बकरीद के मौके पर पूरी हिफाजत के साथ इबादत हो रही है। इस मौके पर जुनून और जज्‍बे की कोई कमी नहीं है। उन्‍होंने देशवासियों को ईल-उल-अजहा (बकरीद) की शुभकामनाएं दीं और घर पर ही रहकर सुरक्षित ढंग से त्‍योहार मनाने की अपील की।

कोरोना संकट को देखते हुए धर्मगुरुओं ने लोगों से घरों पर रहकर ही नमाज अदा करने की अपील की थी। जामा मस्जिद में थर्मल स्‍कैनिंग करने के बाद ही लोगों को प्रवेश दिया गया।

नमाज के बाद अब घरों में कुर्बानी दी जा रही है। बकरीद को लेकर पिछले कई दिनों से लोग इमामों से घरों में नमाज अदा करने का तरीका पूछ रहे थे। बहुत से लोगों ने बकरीद की हेल्पलाइन पर नमाज और कुर्बानी के मसलों की जानकारी ली। कोरोना वायरस के चलते मस्जिदों में अभी सामूहिक रूप से नमाज अदा करने पर पाबंदी है। इसके चलते रमजान में तरावीह और ईद उल फितर के बाद अब ईद-उल-अजहा की नमाज भी लोग घरों में रहकर ही अदा कर रहे हैं।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.