नई दिल्ली: कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने बेरोजगारी को लेकर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखा है। अपने पत्र में उन्होंने लिखा है कि युवा बहुत हताश और परेशान हैं। बेरोजगार युवा कोर्ट कचहरी के चक्कर लगाने को मजबूर हैं। उन्होंने पत्र में लिखा है कि मानवीय संवेदनाओं के देखते हुए और युवाओं के रोजगार के हक का सम्मान करते हुए, 24 शून्य जनपद के अभ्यर्थियों की तत्काल नियुक्ति करें। बता दें कि 12460 शिक्षक भर्ती के अभ्यर्थियों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग पर बातचीत के बाद उन्होंने सीएम को यह पत्र लिखा है।
कांग्रेस महासचिव ने अपने पत्र में लिखा है, ”उत्तर प्रदेश का युवा बहुत परेशान और हताश है। कुछ दिनों पहले ही मैंने 12,460 शिक्षक भर्ती के अभ्यर्थियों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग पर बातचीत की। इस शिक्षक भर्ती में 24 जिले शून्य जनपद घोषित थे यानि इन 24 जिलों में कोई जगह नहीं खाली थी लेकिन इनके बच्चे अन्य जिलों की वैकेन्सीज के लिए परीक्षा में शामिल हो सकते थे। इन बच्चों ने परीक्षा दी और अच्छे अंकों से पास भी हुए लेकिन तीन साल बीत जाने के बाद भी इन प्रतिभावान युवाओं की नियुक्ति नहीं हो पाई हैं।”

उन्होंने आगे लिखा है, ”ये युवा मजबूरी में कोर्ट कचहरी के चक्कर काट रहे हैं। इनमें से कई ऐसे बच्चे हैं जिनके जीवन संघर्ष से भरे हैं, इनकी दर्दनाक कहानी सुनकर मुझे बहुत दुख हुआ। मैं समझ नहीं पा रही हूं कि सरकार ने इनके प्रति एक आक्रामक और निर्मम स्वभाव क्यों बनाया है जबकि यही उत्तर प्रदेश का भविष्य बनाने वाली पीढ़ी है और सरकार इनके प्रति जवाबदेह है। ये युवा बहुत परेशान हैं। कोरोना महामारी इनके ऊपर और भी कहर बरपा रही है।
एक तो इन्हें नौकरी नहीं मिल रही है ऊपर से इस महामारी में उनके सामने गहरा आर्थिक संकट आ खड़ा हुआ है। कई अभ्यर्थी तो भयानक अवसाद में हैं। उनके ऊपर घर के नमक-तेल और राशन का बोझ है।” उन्होंने आग्रह करते हुए लिखा है, मानवीय संवेदनाओं को देखते हुए और युवाओं के रोजगार के हक का सम्मान करते हुए कृपया 24 शून्य जनपद के अभ्यर्थियों की तत्काल नियुक्ति कराने का कष्ट करें।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.