लखनऊ। गलवान घाटी में भारत के वीर सपूतों की हत्या के विरोध में प्रदेशभर में आक्रोश है। जगह-जगह चीन के खिलाफ प्रदर्शन और नारेबाजी हो रही है। इस दौरान लोगों ने चौराहों पर चीन के पुतले भी फूंके। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद गोंडा के कार्यकर्ताओं ने चीन का पुतला फूंका।

गोंडा : इस अवसर पर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के जिला संयोजक शिवम पांडेय ने बताया की जिस प्रकार से भारत चीन से लगातार बातचीत के माध्यम से इस मामले को हल करने का प्रयास कर रहा था, वहीं पर चीन ने अपनी दोहरी नीति के माध्यम से भारतीय सैनिकों की हत्या करवाई है अब भारत के प्रधानमंत्री को भी मुंहतोड़ जवाब देना चाहिए। बताना चाहिए कि यह 1962 वाला भारत नहीं है यह 2020 वाला आत्मनिर्भर भारत है।

आंदोलन प्रमुख अवधेश तिवारी ने बताया की जिस प्रकार से चीन के अखबार द ग्लोबल टाइम्स ने विदेश मंत्रालय के हवाले से बताया कि सीमा पर दोनों देशों में रजा मंदी बनी थी लेकिन भारतीय जवानों ने इसे तोड़ दिया, इस प्रकार का वह गलत दुष्प्रचार कर रहा है। इसे भारत को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर उठाना चाहिए। छात्र नेता सुमित श्रीवास्तव ने बताया कि हमने जिस प्रकार से पाकिस्तान को उसी की भाषा में जवाब दिया था ऐसे ही हमें चाइना को भी उसी की भाषा में जवाब देना होगा तभी इन्हें समझ में आएगा इस अवसर पर कॉलेज महामंत्री अमर प्रताप सैनी, उपाध्यक्ष आशीष सिंह, गौरव वर्मा, नगर मंत्री आलोक पाण्डेय, विवेक तिवारी, सुमित श्रीवास्तव, रोहित शर्मा आदि कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.