लखनऊ: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सरकारी आवास पांच कालिदास मार्ग पर 2 फरवरी को ई-कैबिनेट प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा. इस कार्यक्रम में मंत्रियों के साथ ही वरिष्ठ अधिकारी भी शामिल होंगे. मंत्रियों और अधिकारियों को ई-कैबिनेट के बारे में जानकारी और प्रशिक्षण दिया जाएगा.
यह जानकारी देते हुए राज्य सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि ई-कैबिनेट व्यवस्था लागू हो जाने के बाद मंत्रिपरिषद की कार्यवाही पेपर लेस हो जाएगी. राज्य सरकार के इस कदम से ई-गवर्नेन्स तथा ई-ऑफिस को बढ़ावा मिलेगा. साथ ही प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के ‘मिनिमम गवर्नमेण्ट, मैक्सिमम गवर्नेन्स’ के संकल्प के अनुरूप कार्यों को सम्पादित करने में सुगमता व तेजी आएगी.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.