लखनऊ। पारा में शुक्रवार को दिनदहाड़े चार हथियार बंद लोगों ने एक हत्यारोपित युवक को दौड़ाकर गोली मार दी। वह  प‍िछले महीने ही जमानत पर बाहर आया था। कई राउंड फायरिंग होने से इलाके में हड़कंप मच गया। आसपास के लोग कुछ समझते इससे पहले हत्यारे गलियों से होते हुए भाग निकले। पुलिस पुरानी हत्या की रंजिश में गोली मारने की बात कह रही है। पुलिस तीन टीम बनाकर हुलिए व संदेह के आधार पर हत्यारों की तलाश कर रही है।
पारा सूर्यनगर निवासी राजेंद्र यादव का बेटे आशू यादव (22) शुक्रवार को घर से किसी काम को निकला था। चंद्रोदय नगर के पास चार लोगों ने उस पर फायिरंग शुरू कर दी। हत्यारों से बचने के लिए कुछ दूर भागने के बाद गोली लगने से सड़क किनारे गिर पड़ा। पुलिस के पहुंचने से पहले ही हत्यारे गलियों से होते हुए भाग निकले। वहीं तब तक आशू यादव की मौत हो चुकी थी। पिता राजेंद्र यादव ने बताया दो साल पहले शिवसागर की हत्या मामले में आशू को जेल हुई थी। 9 जून 2020  को वह जमानत पर बाहर आया था। उन्हीं के परिवारीजनों ने हत्या को अंजाम दिया। काकोरी के एसीपी सैय्यद मोहम्मद कासिम ने बताया कि पुरानी रंजिश में आशु की हत्या हुई है। पिता राजेंद्र यादव की तहरीर पर हत्या का मुकदमा दर्ज कर आरोपितों की तलाश की जा रही है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.