लखनऊ: यूपी में पंचायत चुनाव की संपन्न हुई प्रक्रिया के दौरान प्रदेश में बीमारी के चलते 99 प्रधान प्रत्याशियों की मौत हो गई, जिसकी वजह से इन ग्राम पंचायतों में चुनाव नहीं हो पाया. अब राज्य निर्वाचन आयोग ने इन 99 ग्राम पंचायतों में चुनाव कराने का फैसला किया और आज इन जगहों पर रविवार को चुनाव हो रहा है. चुनाव के दौरान कोविड-19 प्रोटोकॉल का शत प्रतिशत पालन किए जाने को लेकर भी सख्त दिशा निर्देश दिए गए हैं.
इन जिलों की इतनी ग्राम पंचायतों में चुनाव
राज्य निर्वाचन आयोग के निर्देश के बाद जिन जगहों पर चुनाव हो रहे हैं, उनमें कुशीनगर की 11 ग्राम पंचायत, गोरखपुर की 1 ग्राम पंचायत, एटा की एक, ललितपुर की एक, भदोही की तीन, बाराबंकी की सात, फिरोजाबाद की दो, कौशांबी की चार, मुजफ्फरनगर की एक, वाराणसी की एक, बहराइच की सात, औरैया की तीन, जौनपुर की दो, मिर्जापुर की चार, बांदा की चार, उन्नाव की आठ, बलिया की छह, सीतापुर की एक, अमेठी की तीन, हमीरपुर की एक, संभल की दो, सिद्धार्थनगर की एक, कानपुर देहात की दो, मऊ की दो, अंबेडकर नगर की एक, कासगंज की दो, सोनभद्र की पांच, बस्ती की तीन, बुलंदशहर की चार, फर्रुखाबाद की दो, मुरादाबाद की तीन व अलीगढ़ की 2 ग्राम पंचायतों में चुनाव कराया जा रहा है.
11 मई को मतगणना
राज्य निर्वाचन आयोग के निर्देश के अनुसार 99 ग्राम पंचायतों में चुनाव के बाद 11 मई को मतगणना कराई जाएगी. चुनाव और मतगणना के दौरान कोविड-19 प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन कराये जाने के निर्देश दिए गए हैं.
पंचायत चुनाव पर चार चरणों के दौरान तमाम जिलों में घटनाएं हुईं. कुछ जगहों पर बीमारी या कोरोना वायरस से प्रधान प्रत्याशियों की मौत हो गई थी, जिसकी वजह से चुनाव टाल दिए गए थे. अब चुनाव कराए जाने का फैसला किया गया है.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.