नई दिल्ली – निर्भया गैंगरेप और मर्डर केस के दोषियों को अंगदान के लिए राजी करने के मकसद से याचिका दायर की गई है। अर्जी में याचिकाकर्ता ने फांसी की सजा पाए चारों दोषियों से मुलाकात की अनुमति मांगी है ताकि उन्हें अंग दान के लिए सहमत किया जा सके। रोड एंटी करप्शन ऑर्गेनाइजेशन (RACO) नाम की संस्था ने पटियाला हाउस कोर्ट में अर्जी दाखिल कर दोषियों से मुलाकात की मंजूरी मांगी है। इस संस्था की अपील पर पटियाला हाउस कोर्ट सुनवाई के लिए तैयार हो गया है।

एडवोकेट आर कपूर ने कहा, एनजीओ राको की तरफ से मैंने दिल्ली के पटियाला हाउस कोर्ट में निर्भया के दोषियों से मिलने के लिए याचिका दायर की है, ताकि उन्हें अंगदान के लिए मोटिवेट किया जा सके। 19 दिसंबर को हमने जेल के प्रशासन से बातचीत की थी तो उन्होंने हमसे कोर्ट का ऑर्डर लाने के लिए कहा था।”

इस संस्था ने कोर्ट में लगाई अपनी अर्जी में कहा है कि उन्हें निर्भया के चारों दोषियों पवन, अक्षय, मुकेश और विनय से मिलने की इजाजत दी जाए जिससे वह उन चारों को इस बात के लिए तैयार कर सकें कि फांसी के बाद उन सभी के अंगदान किए जाएं। संस्था ने अपनी याचिका में डॉक्टर, आध्यात्मिक गुरु और एक्सपर्ट्स के साथ मुलाकात करने की बात कही है।

संस्था के मुताबिक वह उनसे बात करेंगे जिससे कि उन्हें अपने किए का अहसास हो और वे अपने अंगों को दान करने को लेकर सहमत हों। RACO ने अपनी अर्जी में कहा कि यदि दोषी अंगदान के लिए सहमत होते हैं तो इससे उनके परिवारों को मदद मिलेगी, जिन्हें इस जघन्य अपराध के चलते समाज में शर्मिंदगी उठानी पड़ी है।

दरअसल, निर्भया गैंगरेप और मर्डर केस में इन चारों दोषियों के कृत्य के चलते इनके परिवार को भी सामाजिक उपेक्षा और शर्म का सामना करना पड़ रहा है। अंगदान इसको कम करने में मददगार साबित हो सकता है।

रिपोर्ट – न्यूज नेटवर्क 24

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.