नई दिल्ली। चुनाव आयोग ने संकेत दिए हैं कि इस बार लोकसभा चुनाव पांच या छरणों में आयोजित करवाए जा सकते हैं। वहीं चुनावों की तारीख भी फरवरी के आखिरी सप्ताह या फिर शुरूआती मार्च में घोषित कर दी जाएगी। parliya ment

चुनाव आयुक्त एच.एस ब्रम्हा ने कहा कि इस बार चुनाव छह चरणों में आयोजित करवाए जा सकते हैं। उन्होंने कहा कि साल 2009 में चुनाव पांच चरणों में करवाए गए थे, लेकिन इस बार इसे छह चरणों में पूरा करने की योजना बनाई जा रही है। उन्होंने कहा कि फिलहाल मंत्रालयिक अधिकारियों के साथ मीटिंग के बाद ही इस पर विचार किया जाएगा। उन्होंने राजनीतिक नेताओं को एक दूसरे के खिलाफ गलत भाषा के इस्तेमाल से बचने की सलाह देते हुए कहा कि यह अशोभनीय है और उन्हें इससे बचना चाहिए। उन्होंने ओपीनियन पोल के खिलाफ प्रतिबंध पर विरोध जताया। उन्होंने कहा कि इससे चुनाव नतीजों पर खास असर नहीं पड़ता।  उन्होंने कहा कि भारतीय राजनीतिक परिस्थितियां “राइट टू रिकॉल” के अनुकूल नहीं है। इसके लिए मतदाताओं को सजग और शिक्षित करना पड़ेगा। हम अभी इसको ग्राम पंचायत जैसे स्तर पर ही लागू कर सकते हैं।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.