गौतमबुद्ध नगर जिले में कोरोना के मरीज की मौत का पहला मामला सामने आया है। मरीज का नोएडा के सेक्टर 137 स्थित एक निजी अस्पताल में इलाज चल रहा था। मरीज मूल रूप से गाजियाबाद के खोड़ा कालोनी का रहने वाला है। नोएडा जिला प्रशासन ने गाजियाबाद जिला प्रशासन को मामले की सूचना दे दी है।

सर्वीलांस ऑफिसर डॉ. सुनील दोहरे ने बताया कि गाजियाबाद के  का रहने वाला एक व्यक्ति कुछ दिन पहले इलाज के लिए नोएडा के सेक्टर-24 स्थित ईएसआई अस्पताल में भर्ती हुआ था। हालत बिगड़ने पर उसे प्राइवेट अस्पताल में रेफर किया गया। वहां पर मरीज का कोविड-19 की जांच के लिए नमूना लिया गया। मरीज में कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई। इसी बीच मरीज की मौत हो गई।

इलाज में लगे स्वास्थ्यकर्मी क्वारंटाइन

सर्वीलांस ऑफिसर डॉ. सुनील दोहरे के अनुसार, इसकी जानकारी गाजियाबाद प्रशासन को दे दी गयी है। मरीज का उपचार करने वाले निजी अस्पताल के डॉक्टर और नर्स, मेडिकल स्टाफ के अन्य लोगों को क्वारंटाइन कर दिया गया हैं।

नौ स्वास्थ्यकर्मियों को हो चुका कोरोना

जिले में अभी तक 9 स्वास्थ्य कर्मचारियों को कोरोना हो चुका है। इनमें चाइल्ड पीजीआइ के एक डॉक्टर, पांच स्टाफ नर्स व एक वार्ड अटेंडर शामिल है। इसके अलावा ईएसआइसी का डॉक्टर भी कोरोना पॉजिटिव पाया जा चुका। वहीं जिला अस्पताल में वार्ड आया और अब सफाईकर्मी भी पॉजिटिव मिली है।

बता दें कि जिले में कोरोना संक्रमण तेजी से पांव पसार रहा है। रविवार को जिला अस्पताल की सफाई कर्मचारी समेत 8 लोगों में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई है। चार मरीजों में तो वायरस के संक्रमण की जानकारी हो गई है, लेकिन शेष चार का कारण अज्ञात बना हुआ है। मरीजों को स्वास्थ्य विभाग ने आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कर लिया। जिले में अब कोरोना संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 167 पर पहुंच गया है। राहत भरी खबर यह भी है कि अब तक 101 मरीज पूरी तरह ठीक हो चुके हैं, इनमें सात मरीजों ने रविवार को ही कोरोना से जंग जीती है। फिलहाल 66 मरीजों का उपचार चल रहा है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.