लखनऊ: केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह रविवार को उत्तर प्रदेश इंस्टीट्यूट ऑफ फॉरेंसिक साइंसेज का शिलान्यास करने लखनऊ पहुंचे. इसको लेकर समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने ट्वीट कर निशाना साधा है.
उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा है कि जनता पूछ रही है कि अपराधियों को सज़ा व पीड़ित को न्याय दिलाने के लिए सपा सरकार में बनी फॉरेंसिक लैब भाजपा सरकार शुरू क्यों नहीं कर रही है और ये भी कि निर्भया-फंड से ‘आशा ज्योति केंद्रों’ की स्थापना कब तक होगी. अपराधों के लिए गंभीर न होना भी आपराधिक संलिप्तता का ही रूप होता है.
उन्होंने बढ़ती महंगाई और गैस सिलेंडरों के बढ़ते दामों को लेकर भी सरकार पर हमला बोला है. उन्होंने कहा कि कामर्शियल सिलेंडर के दाम आज फिर लगभग 75 रु बढ़े हैं. इससे उन लोगों, ख़ासतौर से उन युवाओं पर महंगाई की मार और भी पड़ेगी जो काम-रोज़गार के सिलसिले में बाहर खाने-पीने पर मजबूर हैं.
अखिलेश यादव ने लिखा है कि उप्र के युवा ‘भाजपाई-मंहगाई’ का जवाब 2022 में भाजपा की गेंद को यूपी के स्टेडियम से बाहर करके देंगे.
वहीं गृहमंत्री के मिर्जापुर दौरे पर रोप वे के उद्धाटन को लेकर भी तंज कसा है. उन्होंने अपने ट्वीट में लिका है कि कुछ दिनों पहले हमने विंध्याचल जाकर देवी माँ का आशीर्वाद लिया था, जिसके प्रतिफल में हमारे समय में पारित ‘रोप वे’ आज साकार हो रहा है, जबकि भाजपा ने इसे अटकाने-लटकाने का हर संभव प्रयास किया था. कोई भाजपाइयों से कहे, कभी अपने किसी एक काम का तो फ़ीता काटिए.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.