उत्तर प्रदेश के ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने गेहूं की कटाई व गन्ने की बोआई के मद्देनजर कृषि फीडर पर सुबह 7 से शाम 5 बजे तक 10 घंटे निर्बाध बिजली आपूर्ति सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि जिन क्षेत्रों में स्वतंत्र कृषि फीडरों का निर्माण अभी पूरा नहीं हो पाया है वहां भी अधिकारी किसानों की सुविधा के अनुसार रोस्टर तय करें। ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने इसके लिए पावर कारपोरेशन के अध्यक्ष को विशेष तौर पर निगरानी व जरूरी निर्देश जारी करने को कहा है।

ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने गुरुवार को शक्तिभवन मुख्यालय से सहारनपुर व मुरादाबाद मंडलों के सांसदों, मंत्रियों व विधायकों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग कर लॉकडाउन के दौरान बिजली आपूर्ति की समीक्षा करते हुए अधिकारियों को निर्देशित किया कि जिलों के स्टोर में तार और पोल की उपलब्धता सुनिश्चित कर लें। गर्मी बढ़ रही हैं ऐसे में आम लोगों को किसी तरह की समस्या का सामना न करना पड़े इसके लिए सभी वर्कशॉप्स की अलग से समीक्षा कर ली जाए, जिससे कहीं कोई तकनीकी दिक्कत आये तो उसे समय से ठीक कर लिया जाए।

ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने अधिकारियों को सोशल मीडिया व 1912 के माध्यम से शिकायतों का भी समय से निस्तारण करने के निर्देश दिए। उन्होंने सभी उपकेंद्रों पर सुरक्षा संबंधी प्रोटोकॉल व एहतियात बरतने के निर्देशों का कड़ाई से पालन करने के निर्देश दिए। कहा कि कर्मचारियों की सुरक्षा से किसी भी प्रकार का समझौता नहीं होना चाहिए। ऊर्जा परिवार के सदस्यों ने जिस तरह लॉकडाउन-1 में काम के मानक बनाये थे उसी प्रकार लॉकडाउन-2 में भी अपनी प्रतिबद्धता पर खरा उतरना है।

वीडियो कांफ्रेंसिंग में शामिल जनप्रतिनिधियों ने भी ऊर्जा विभाग के कोरोना वारियर्स के कार्यों व उनकी प्रतिबद्धता की मुक्त कंठ से प्रशंसा की। ऊर्जा मंत्री ने भी कर्मिकों की प्रशंसा कर उनका हौसला बढ़ाया। उन्होंने खासतौर पर निर्देश दिया कि इस दौरान संविदाकर्मी का वेतन समय से मिले। शुक्रवार को ऊर्जा मंत्री गोरखपुर, महराजगंज, देवरिया, कुशीनगर, बस्ती, संत कबीरनगर व सिद्धार्थनगर के जनप्रतिनिधियों व विभागीय अधिकारियों से वीडियो कांफ्रेंसिंग करेंगे।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.