कानपुर में संजीत यादव हत्याकांड में सस्पेंड चल रहे बर्रा इंस्पेक्टर समेत तीन पुलिस कर्मियों का अपराधियों के साथ डांस करने का वीडियो वायरल हो गया। डीआईजी ने एक दरोगा को लाइन हाजिर करने के साथ ही निलंबित इंस्पेक्टर समेत तीनों पुलिस कर्मियों के खिलाफ जांच का आदेश दिया है। जांच एसपी पूर्वी करेंगे।

सोशल मीडिया पर इंस्पेक्टर रणजीत राय का एक वीडियो वायरल हुआ था। इसमें रणजीत राय चकेरी इंस्पेक्टर होने के दौरान अपराधी हसीन उर्फ राजा कालिया के साथ डांस कर रहे थे। इंस्पेक्टर के साथ तत्कालीन रामादेवी चौकी प्रभारी हरिओम गौतम और दरोगा अनिल कुमार त्रिपाठी डांस कर रहे थे। जबकि राजा कालिया के खिलाफ चकेरी में कई मुकदमें दर्ज हैं। मौजूदा समय में चकेरी में तैनात डांस कर रहे दरोगा अनिल कुमार त्रिपाठी को लाइन हाजिर कर दिया गया। जबकि रणजीत राय संजीत अपहरण कांड में पहले से निलंबित हैं और दरोगा हरिओम गौतम भी 1 मई को निलंबित चल रहे हैं। डीआईजी डॉ. प्रीतिंदर सिंह ने बताया कि मामले की प्रारंभिक जांच एसपी पूर्वी राजकुमार अग्रवाल को दी गई है। जांच रिपोर्ट के आधार पर दोषी पुलिस कर्मियों पर विभागीय कार्रवाई की जाएगी।

बता दें कि विकास दुबे प्रकरण के बाद से ही पुलिस और अपराधियों के बीच दोस्ती की लगातार शिकायतें मिल रही है। कुछ पुलिसकर्मियों पर ही विकास दुबे के लिए मुखबीरी करने का शक है। इसी कारण चौबेपुर थाने के एसओ विनय तिवारी और एक दारोगा को गिरफ्तार भी किया जा चुका है। वहीं पूरे चौबेपुर थाने को ही लाइन हाजिर कर दिया गया था।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.