नई दिल्ली: राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने सोमवार को विशाखापत्तनम जासूसी मामले में एक अहम आरोपी को पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के लिए जासूसी करने और उसके लिए काम करने के आरोप में गिरफ्तार किया है। एनआईए ने पाकिस्तानी जासूस गितेली इमरान को गिरफ्तार किया है। इमरान गुजरात के गोधरा ज़िले का रहने वाला है। एनआईए ने इमरान पर पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के लिए काम करने और जासूसी में लिप्त होने का आरोप लगाया है।
न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक, एनआईए ने बताया कि यह मामला एक अंतरराष्ट्रीय जासूसी रैकेट से संबंधित है जिसमें पाकिस्तान के जासूसों ने भारत में बड़े स्तर पर एजेंटों की भर्ती की है। ये एजेंट भारतीय नौसेना जहाजों और पनडुब्बियों की आवाजाही और अन्य रक्षा प्रतिष्ठानों के लोकेशन के बारे में संवेदनशील और वर्गीकृत जानकारी इकट्ठा कर रहे थे। एकत्रित जानकारी को ये पाकिस्तान भेज देते थे। एनआईए ने बताया कि इस मामले में आगे की जांच चल रही है जिसमें बाकी एजेंटों की तलाश की जा रही है।

एनआईए के एक अधिकारी के बताया कि गुजरात के गोधरा निवासी 37 वर्षीय गितेली इमरान को सोमवार को गिरफ्तार किया गया। उसके खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धाराओं, गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम और सरकारी गोपनीयता अधिनियम के तहत मामला दर्ज है। उन्होंने कहा कि इमरान जासूसी गतिविधियों में लिप्त था और पाकिस्तान की आईएसआई के लिए काम कर रहा था। यह मामला एक अंतरराष्ट्रीय जासूसी रैकेट से जुड़ा है जिसमें पाकिस्तान के जासूसों ने भारत में कई एजेंटो की भर्ती की थी। इसका मकसद भारतीय नौसेना के जहाजों और पनडुब्बियों के स्थानों अथवा उनके आवागमन के बारे में और साथ ही अन्य रक्षा प्रतिष्ठानों के बारे में संवेदनशील और गोपनीय जानकारी एकत्र करना था।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.