इंदौर: मध्य प्रदेश में विधानसभा के उप-चुनाव के बाद सरकार और प्रशासन हरकत में आ गया है। इंदौर में नगर निगम ने कंप्यूटर बाबा के आश्रम के अतिक्रमण को ढहा दिया है। इस कार्रवाई को कांग्रेस प्रतिशोध की कार्रवाई बता रहा है। कंप्यूटर बाबा का जम्बूरी हप्सी गांव में गोमट गिरी आश्रम है। आरोप है कि उन्होंने आश्रम बनाने के लिए बड़े हिस्से पर अतिक्रमण कर रखा था। कच्चा और पक्का निर्माण कर रखा था, इस अतिक्रमण को हटाने के लिए नोटिस भी जारी किए गए, मगर ऐसा नहीं हुआ। रविवार की सुबह जेसीबी मशीनों के साथ अतिक्रमण विरोधी दस्ता पहुंचा और अतिक्रमण को ढहा दिया गया।
विधानसभा के उप-चुनाव में कंप्यूटर बाबा ने कांग्रेस के उम्मीदवारों के समर्थन में प्रचार किया था। प्रशासन की इस कार्रवाई को इसी से जोड़कर देखा जा रहा है। कांग्रेस के मीडिया विभाग के उपाध्यक्ष और प्रवक्ता सैयद जाफर का कहना है कि कांग्रेस अतिक्रमण के खिलाफ है, मगर वर्तमान में भाजपा सरकार चुन-चुनकर कांग्रेस से जुड़े लोगों पर दवाब बनाने के लिए उप-चुनाव के नतीजे आने से पहले यह कार्रवाई कर रही है।

 

उन्होंने कहा, कमलनाथ ने अतिक्रमण के खिलाफ अभियान चलाया था, माफियाओं पर कार्रवाई की गई थी। वहीं भाजपा पक्षपात पूर्ण कार्रवाई करते हुए कांग्रेस के लोगों को प्रताड़ित कर रही है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.