अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष और निरंजनी अखाड़ा के सचिव महंत नरेंद्र गिरि को आज समाधि नहीं दी जाएगी. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज प्रयागराज के बाघंबरी मठ पहुंचकर महंत नरेंद्र गिरि (Mahant Narendra Giri) को श्रद्धांजलि अर्पित की. इस दौरान सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि, कल की घटना को लेकर बहुत से साक्ष्य इकट्ठे किए गए हैं. पुलिस की एक टीम, यहां के एडीजी जोन, आईजी रेंज और डीआईजी प्रयागराज, मंडलायुक्त प्रयागराज सभी अधिकारी एकसाथ मिलकर इस काम को आगे बढ़ा रहे हैं. एक-एक घटना का पर्दाफाश होगा और दोषी को अवश्य सजा मिलेगी.
आज समाधि न देने की सीएम योगी ने बताई वजह
सीएम योगी आदित्यनाथ ने महंत गिरी को आज समाधि न दिए जाने को लेकर स्‍पष्‍ट किया कि पंचक होने की वजह से आज महंत नरेंद्र गिरि को समाधि नहीं दी जायेगी. बुधवार को 5 डॉक्टरों के पैनल से पोस्टमार्टम कराया जाएगा. उन्होंने कहा कि पोस्टमॉर्टम होने के बाद मठ बाघम्बरी गद्दी में ही सनातन परम्परा के अनुसार महंत नरेंद्र गिरि को समाधि दी जाएगी.

‘कुंभ मेले के आयोजन में रहा महत्वपूर्ण भूमिका’ 
योगी ने मठ बाघंबरी गद्दी में मंगलवार को नरेंद्र गिरी के पार्थिव शरीर के दर्शन करने के बाद पत्रकारों से कहा, कुंभ मेले के आयोजन में उनका महत्वपूर्ण योगदान रहा और उन्होंने अपने घर के कार्यक्रम की तरह पूरे आयोजन की देखरेख की. मुख्यमंत्री ने कहा कि ‘पंचक’ होने के कारण महंत नरेंद्र गिरी के शव का पोस्टमार्टम कल किया जाएगा और फिर वैदिक रीति से उन्हें समाधि दी जाएगी. अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष एवं निरंजनी अखाड़ा के सचिव महंत नरेंद्र गिरि ने अपने मठ बाघंबरी गद्दी में सोमवार शाम कथित तौर पर आत्महत्या कर ली थी.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.