गोंडा। चर्चित शिक्षक नियुक्ति फर्जीवाड़ा प्रकरण में हैरान हो रही असली अनामिका शुक्ला को एडेड स्कूल प्रबंधक ने नौकरी दे दी है। भैय्या चंद्रभान दत्त स्मारक विद्यालय रामपुर टेंगरहा के प्रबंधक दिग्विजय पाण्डेय ने अनामिका शुक्ला को अपने स्कूल के प्राथमिक अनुभाग में सहायक अध्यापिका के पद पर अस्थाई नौकरी दी है। शुक्रवार को सौंपे गए नियुक्ति पत्र में छात्रों की संख्या के मुकाबले शिक्षकों की कमी का हवाला दिया गया है।
विद्यालय के प्रबंधक श्री पाण्डेय ने बताया नौकरी शासन की गाइडलाइन के मुताबिक वेतनमान के आधार पर दी गई है। अनामिका शुक्ला को नौकरी ज्वाइन करने के लिए तीन दिन का मोहलत दी गई है।

बीएसए ने भी दिया नौकरी का ऑफर : अनामिका शुक्ला ने बीएसए दफ्तर पहुंचकर अपनी पीड़ा सुनाई और खुद को बेरोजगार बताते हुए उसके शैक्षिक अभिलेखों का दुरुपयोग पर कड़ी कार्रवाई करने की मांग की। बीएसए डॉ. इन्द्रजीत प्रजापति ने उसे नौकरी का ऑफर दिया। बीएसए ने कहा कि जब कस्तूरबा विद्यालय में भर्ती निकलेगी तो फार्म जरूर भरिए, हाई मेरिट होने के कारण नौकरी लग जाएगी।

अनामिका ने वर्ष 2007 में हाईस्कूल की परीक्षा कस्तूरबा बालिका इंटर कॉलेज से पास की थी,उसे 80.16% अंक मिले थे। इंटर की परीक्षा उसने वर्ष 2009 में पास बेनी माधव जंग बहादुर कॉलेज से दी थी, जिसमें उसे 78.6% अंक मिले। स्नातक की परीक्षा उसने रघुकुल महिला विद्यापीठ से 2012 में दी थी, जिसमें उसे 55.61 % अंक मिले। आदर्श कन्या डिग्री कॉलेज जियापुर, टांडा से वर्ष 2014 में पीजी किया, जिसमें उसे 76.5% अंक मिले। टीईटी 2015 में दी जिसमें वह 60 फीसदी अंकों से पास हुई थी।

अनामिका ने बताया कि उसने 2017 में साइंस टीचर पद पर सुल्तानपुर, जौनपुर, बस्ती, मिर्जापुर व लखनऊ जिले के लिए आवेदन किया था। बच्चा छोटा होने की वजह से किसी भी जिले की काउंसलिंग में भाग लेने नहीं गई।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.