अवैध धर्मांतरण के मामले यूपी एटीएस ने ग्लोबल पीस सेंटर के अध्यक्ष मौलाना कलीम सिद्दीकी को गिरफ्तार किया है. यूपी एटीएस ने मौलान कलीम सिद्दीकी को मेरठ से गिरफ्तार किया है. मौलाना जमीयत-ए- वलीउल्लाह के अध्यक्ष भी हैं. जानकारी के अनुसार मौलाना कलीम उमर गौतम का करीबी है.
जानकारी के अनुसार एटीएस थोड़ी देर बाद लखनऊ में बड़ा खुलासा कर सकती है. कलीम की गितविधियां संधिग्ध होने का शक जताया गया था. मौलाना कलीम सिद्दीकी को मंगलवार शाम मेरठ में एक कार्यक्रम में शामिल होने आए थे. रात 9 बजे नमाज के बाद वो अपने साथियों के साथ वापस फुलत के लिए रवाना हुए. इस दौरान परिजनों से उन्हें फोन किया, तो उन्होंने फोन नहीं उठाया. इसके बाद परिजनों ने उनके तलाश शुरू की. तो पता चाल की एटीएस ने उन्हें हिरासत में ले लिया है.
आज होगा बड़ा खुलासा
मुजफ्फरनगर के खतौली के फूलत निवासी मौलान कलीम सिद्दीकी और तीन मौलानाओं, ड्राइवर सलीम को मंगलवार रात सुरक्षा एजेंसी ने हिरासल में लिया था. लखनऊ एटीएस ने रातभर चारों से पूछताछ की है. एजेंसी आज मामले में बड़ा खुलासा कर सकती है.
उमर गौतम ने पहले लिया था नाम
उमर गौतम ने पूछताछ में खुलासा किया था कि उसके साथी मौलाना कलीम सिद्दीकी ने बीते सालों में 5 लाख से भी ज्यादा लोगों का धर्म परिवर्तन कराया है. IDC के जरिए नाबालिगों के धर्मांतरण को भी अंजाम दिया जा रहा था. धर्मांतरण करने वाले जिन लोगों के नाम एटीएस को मिले थे, उनमें ईसाई 4 प्रतिशत, सिख 0.75 प्रतिशत और एक जैन व्यक्ति भी शामिल हैं.
मौलाना कलीम सिद्दीकी को धर्मांतरण मामलों में आरोपी बनाया जा सकता है. उन पर अनगिनत धर्मांतरण कराने के आरोप हैं. सात सितंबर को मुंबई में आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत के द्वारा आयोजित राष्ट्र प्रथम और राष्ट्र सर्वोपरि कार्यक्रम में भी मौलाना कलीम शामिल हुए थे. पूर्व बॉलीवुड अभिनेत्री सना खान का निकाह भी मौलाना कलीम सिद्दीकी ने ही कराया था.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.