अलीगढ़ : शराब कांड में फरार चल रहे मुख्य आरोपी ऋषि शर्मा को गिरफ्तार कर लिया गया है. एसपी सिटी व एसपी ग्रामीण की संयुक्त टीम ने मुखबिर की सटीक सूचना पर बुलंदशहर बॉर्डर पर चैकिंग के दौरान उसे गिरफ्तार किया गया. उसकी स्कार्पियो गाड़ी नं – UP81 BT 2169 से 540 खाली पव्वे देशी शराब, 279 ढक्कन लाल रंग, 75 ढक्कन महरूम रंग के, 667 ढक्कन सील, 240 रैपर जिन पर गुड ईवनिंग देशी शराब लिखा था और 500 बार कोड बरामद किया गया है.
देर रात उस पर एक लाख रुपये का इनाम घोषित किया गया. रविवार सुबह उसे गिरफ्तार कर लिया गया है. शराब माफिया ऋषि शर्मा की बुलंदशहर बार्डर पर गिरफ्तारी की गई है. एसएसपी कलानिधि नैथानी ने गिरफ्तारी की पुष्टि की है.
वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कलानिधि नैथानी द्वारा शराब प्रकरण में फरार चल रहे मुख्य आरोपी ऋषि शर्मा पुत्र रामप्रकाश निवासी जवां थाना पर 75 हजार रुपये ईनाम घोषित करने का प्रस्ताव एडीजी जोन आगरा के समक्ष भेजा था. इस पर एडीजी ने ईनाम की धनराशि को 75 हजार से बढ़ाकर एक लाख रुपये कर दी. वहीं, एसएसपी कलानिधि नैथानी ने ऋषि शर्मा की धरपकड़ तेज करने के आदेश दिए थे.
दो दिन नहरों की होगी सफाई
अलीगढ़ में जहरीली शराब पीने से अब तक 108 लोगों की मौत हो चुकी है. इसमें 16 ईंट भट्टा मजदूर भी शामिल हैं. बिहार के इन मजदूरों ने नहर किनारे पड़ी शराब का सेवन किया था. इसके चलते अब नहर पर भी जिला प्रशासन नजर रखवा रहा है. पुलिस के डर से शराब तस्करों ने कई क्षेत्रों में जहरीली शराब फेंक दी है. जवा और धनीपुर इलाके में सबसे अधिक शराब मिल रही है. इस क्षेत्र में गंग नहर के आसपास भी शराब मिली है. प्रशासन ने शराब को खोजने के लिए दो दिन के लिये गंग नहर के जल को रोकने का फैसला लिया है. इससे नहर की सफाई हो सकें. वहीं, अलग-अलग इलाकों में नहर की निगरानी की जिम्मेदारी अधिकारियों को सौंपी गई है.
ईंट भट्टों पर हो रही मुनादी
वहीं, गांव और ईंटभट्टों पर मुनादी के बाद भी घटनाएं सामने आ रहीं हैं. शराब कांड को लेकर 10 दिन बीत चुके हैं. जहरीली शराब के असर से मौत की संख्या बढ़ रही है. अकराबाद के भाई जी ईंट भट्टे से तीन मजदूर, जवा के रोहेरा भट्टा से एक मजदूर और नगला माली में युवक की मौत से अब तक मरने वालों की संख्या 108 हो गई है.

सौ से ज्यादा मुखबिर किए गए सक्रिय

ऋषि शर्मा की गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीमों ने लगभग 500 से ज्यादा नंबरों की कॉल डिटेल खंगाली. इसकी 100 से ज्यादा रिश्तेदारों के यहां रेकी करके जानकारी जुटाई गई .और विभिन्न जनपदों में अपने 100 से ज्यादा मुखबिरों को एक्टीवेट किया गया. भागने के रास्तों के सीसीटीवी खंगाले गये. इसके पुराने जितने भी मित्र हैं व सहयोगी हैं, सभी से सघन पूछताछ की गई. तत्पश्चात सटीक सूचना मिलने पर संयुक्त टीम द्वारा ऋषि शर्मा को गिरफ्तार किया गया.
जहरीली शराब कांड में 17 मुकदमों में 61 गिरफ्तारियां
जहरीली शराब कांड में अब तक 50 हजार रुपये का ईनामी विपिन यादव सहित 25 हजार रुपये के ईनामी मुनीश शर्मा व 25 हजार रुपये के ईनामी नीरज चौधरी को अलीगढ़ पुलिस गिरफ्तार कर चुकी है. विदित है कि शराब कांड का आरोपी ऋषि शर्मा के दो भाईयों, पत्नी, बेटा एवं भांजे को पूर्व में ही पुलिस टीमों द्वारा गिरफ्तार किया जा चुका है. जहरीली शराब कांड में अब तक 17 मुकदमों दर्ज हुए है. 61 गिरफ्तारियां हो चुकीं हैं. पुलिस टीम 6 राज्यों में दबिश दे चुकी है. एसएसपी कलानिधि नैथानी लगातार टीमों की मॉनिटरिंग कर रहे हैं.

देर रात एक लाख का इनाम बढ़ाया

मुख्य अभियुक्त ऋषि शर्मा पर एडीजी जोन द्वारा एसएसपी अलीगढ़ के अनुरोध पर एक लाख रुपये का ईनाम देर रात रखा गया था. एसएसपी ने कहा कि गिरफ्तार करने वाली टीम ही ईनाम की हकदार है. वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कलानिधि नैथानी द्वारा ऋषि शर्मी से सघन पूछताछ करने एवं उसका न्यायालय से पुलिस कस्टडी रिमांड हेतु अनुरोध करने के लिए आदेशित किया गया है. ऋषि शर्मा से इंटेरोगेशन के लिए अलग से टीम गठित की गई. बता दें कि इसकी गिरफ्तारी के बाद अब तक कुल 17 मुकदमों में पिछले 2 दिन में ताबड़तोड़ छापेमारी के बाद अब तक कुल 61 अपराधियों को गिरफ्तार किया जा चुका है .
भारी मात्रा में अपमिश्रित शराब बरामद
शराब प्रकरण में अब तक गिरफ्तार आरोपियों के बयान व निशांदेही के आधार पर भारी मात्रा में अपमिश्रित शराब (7476 लीटर अवैध शराब), 540 खाली पव्वा, 6744 नकली ढक्कन बरामद, 3440 से अधिक रेपर बरामद, 5910 Qआर कोड बरामद, 1 हजार लीटर से अधिक स्प्रिट बरामद, 150 से अधिक अवैध शराब की पेटी, पैकिंग कार्टून सहित सदिंग्ध दस्तावेज बरामद, 04 चार पहिया वाहन सीज किये गये हैं. एसएसपी के अनुसार ऋषि शर्मा की गिरफ्तारी के साथ ही अब तक की कार्रवाई में समस्त प्रमुख गिरफ्तारियां पूर्ण की जा चुकी हैं .
क्षेत्र में शराब माफिया पनपने पर थाना प्रभारी हटाये
वहीं, शराब माफिया ऋषि शर्मा और अनिल चौधरी के क्षेत्र के थाना प्रभारी को भी एसएसपी ने हटा दिया है. शराब माफिया के पनपने और उनकी गतिविधियों को पता लगाने में नाकाम रहने पर एसएसपी कलानिधि नैथानी ने थाना जवां और थाना गोंडा के प्रभारियों को हटा दिया है. थाना जवां क्षेत्र में शराब माफिया ऋषि शर्मा और गोंडा थाना क्षेत्र में अनिल चौधरी का आवास है. एसएसपी के अनुसार जवां थाना प्रभारी चंचल सिरोही और थाना गोंडा के प्रभारी संदीप को हटाया गया है. इनके स्थान पर थाना जवां में जितेंद्र सिंह को थानाध्यक्ष बनाया गया है. गोंडा में अनिल कुमार को प्रभारी निरीक्षक बनाया गया है.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.