कर्नाटक का सियासी नाटक दिन पे दिन अलग ही दिशा लेता जा रहा है। बेशक राज्य में सरकार बदल गई हो लेकिन नाटक अब भी जारी है। दरअसल, कर्नाटक के विधानसभा स्पीकर के आर रमेश कुमार ने जिन विधायकों को अयोग्य करार दिया है उन विधायकों ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। ये सुनवाई अयोग्य करार दिए गए कांग्रेस के तीन विधायकों की याचिका पर होगी, जिन्हें गुरुवार को स्पीकर द्वारा अयोग्य ठहराया गया।

इसके अलावा स्पीकर ने रविवार को कांग्रेस और जेडीएस के 14 बागी विधायकों को अयोग्य करार दिया था अब वह भी स्पीकर के खिलाफ आज सुप्रीम कोर्ट जाएंगे। बता दें कि अयोग्य ठहराने के बाग बागी विधायक खुद को ठगा महसूस कर रहे हैं। उन्होंने स्पीकर पर आरोप लगाया कि कर्नाटक के सियासी नाटक में उनका इस्तेमाल हुआ है और वह स्पीकर की बनी हुई स्क्रिप्ट के शिकार हुए हैं।

बागी विधायकों ने सुप्रीम कोर्ट में अयोग्यता के खिलाफ अर्जी दाखिल की है। उनका कहना है कि विधानसभा अध्यक्ष का फैसला 10th रूल का उल्लंघन करता है।

गुरुवार को अयोग्य करार दिए गए कांग्रेस के विधायक आर. शंकर (R Shankar), महेश कुमथल्ली (Mahesh Kumthalli) और निर्दलीय विधायक रमेश जरकिहोली (Ramesh Jarkiholi) है। बैराठी बसवराज, मुनिरत्न, एसटी सोमशेखर, रोशन बेग, आनंद सिंह, एमटीबी नागराज, बीसी पाटिल, प्रताप गौड़ा पाटिल, डॉ. सुधाकर, शिवराम हेब्बार और श्रीमंत पाटिल. (कांग्रेस) के. गोपालैया, नारायण गौड़ा और ए एच विश्वनाथ. (जेडीएस) इन विधायकों को रविवार को स्पीकर ने अयोग्य घोषित किया है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.