karan-joharमुंबई। इस दिवाली पर डायरेक्टर करण जौहर की फिल्म ‘ऐ दिल है मुश्किल’ और अजय देवगन की फिल्म ‘शिवाय’ रिलीज होने वाली हैं। लेकिन इस महा मुकाबले से करण जौहर अपनी डेब्यू फिल्म ‘कुछ कुछ होता है’ का मजाक उड़ा रहे हैं।

करण जौहर ने 1998 में बॉलीवुड फिल्म “कुछ कुछ होता है” अपना करियर शुरू किया था। फिल्म में शाहरूख खान, काजोल का मुख्य रोल और रानी मुखर्जी लीड रोल्स में थी। यह फिल्म उस दौर की हिट फिल्मों में शामिल था। इस फिल्म की सफलता के साथ करण जौहर बॉलीवुड के टॉप डायरेक्टर्स में शामिल हो गए थे।

करण के डायरेक्टोरियल करियर की एक और माइल स्टोन फिल्म है ‘कभी खुशी कभी गम’। हैरानी की बात यह है कि फिल्म करण को आज के समय में बकवास लगने लगी। डायरेक्टर करण जौहर ने कहा कि जब मैं इन दो फिल्मो ‘कुछ कुछ होता है’ और ‘कभी खुशी कभी गम’ देखता हूं। मैं खुद परेशान हो जाता हूं कि ये फिल्में मैंने क्यों लिखीं। ऐसा ख्याल मेरे जहन में कहां से और कैसे आया। फिल्म कुछ कुछ होता है बहुत ही असाधारण और बेवकूफाना विषय है।

करण ने अपनी इस फिल्म का विवेचना करते हुए कहा कि पता नहीं उन आठ चिट्ठियों में मां ने क्या लिखा था। चार साल का बच्चा क्या पड़ता है। वो भी इतने कनविक्शन के साथ। करण ने फिल्म की कहानी का मजाक उड़ाते हुए कहा कि फिल्म का हीरो कहता है कि जिंदगी में एक बार प्यार होता है और एक बार शादी होती है। लेकिन खुद दो बार प्यार करता है और दो बार शादी करता है। करण जौहर का ये सेंस ऑफ ह्यूमर भी मानना पड़ेगा। वैसे उम्मीद है कि ‘ऐ दिल है मुश्किल’ में करण ने अपनी सारी शिकायतें खुद दूर कर ली होंगी।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.