कई दशकों तक सुपर स्टार बने मेगास्टार अमिताभ बच्चन ने खुलासा किया कि कैसे वे एक बार ट्रेन के प्रति लगाव के कारण भीड़ से भरे रेलवे स्टेशन पर गुम हो गए थे। 71 वर्षीय अभिनेता ने अपने ब्लॉग पर बरसों पुरानी अपनी याद ताजा की और बताया कि कैसे अपने दादा दादी से मिलने के लिए वे इलाहाबाद से ट्रेन से कराची जाया करते थे। घटना के दौरान बच्चन महज दो साल के थे। बच्चन ने कहा, ”मुझे लगता है कि तब इलाहाबाद से कराची की यात्रा में दो दिन का वक्त लगता होगा। उनके दादा ने इंग्लैंड से ‘बार-एट-लॉamitab bachchan किया था और वह कराची में रहा करते थे। लौटने के दौरान हमें ट्रेन बदलनी पड़ती थी, तभी यात्रियों की भीड़ में मेरी मां को यह पता चला कि मैं पिताजी के साथ नहीं हूं जिनका मैंने हाथ पकड़ रखा था।
बच्चन ने आगे लिखा, ”इससे चिंतित मेरे माता पिता पूरे प्लेटफॉर्म पर मेरा नाम लेकर पुकारने लगे और लोगों से पूछते कि क्या किसी ने भी दो साल के उनके बच्चे को देखा है? कुछ घंटों की प्रतीक्षा और हताशा के बाद एक यात्री ने बताया कि उन्होंने एक बच्चे को ओवर ब्रिज पर देखा है।उन्होंने बताया, ”यात्री द्वारा बताए गए स्थान पर पहुंचने पर मेरे माता पिता ने बताया कि मैं पुल की फर्श पर बैठा बेहद खुश था। उस उम्र में भी मेरे पैर काफी लंबे थे और मैं रेलिंग पर झूलता हुआ ट्रेनों को वहां से गुजरते हुए देख रहा था। ‘भूतनाथ रिटन्र्सÓ स्टार ने ब्लॉग में ट्रेन को निहारते हुए अपनी तस्वीर पोस्ट की और कहा कि आज भी वे ट्रेनों को गुजरते हुए देखते हंै, भले ही उन्हें देखने की इच्छा उतनी तीव्र न हो लेकिन वे उन्हें बचपन के दिनों की याद दिला जाते हैं।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.