अयोध्या ब्यूरो
अयोध्या। परमहंस स्वामी राममंगल दास जी महाराज द्वारा संग्रहित चौपाइयों की पुस्तक श्रीराम नाम की मानस की चौपाई का आज अयोध्या के प्रसिद्ध संत कमल नयन दास जी महाराज ने वशिष्ट कुंड अयोध्या स्थित गोकुल भवन में विमोचन किया।
यह पुस्तक परमहंस बेनी माधव राम मंगलदास सेवा संस्थान गोकुलधाम अयोध्या द्वारा प्रकाशित की गई है। इसमें बालकाण्ड, अयोध्या काण्ड, अरण्य काण्ड, किष्किन्धा काण्ड, सुंदर काण्ड, लंका काण्ड व उत्तर काण्ड की सिद्ध चौपाइयां है। पुस्तक के विमोचन के बाद राम जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास जी महाराज के उत्तराधिकारी महंत कमल नयन दास जी महाराज ने कहा कि परमहंस राममंगल दास जी ने श्री रामचरित मानस मंथन करके उसका सार भूत अमृत प्रस्तुत किया है, जो राम भक्तों के लिए अत्यंत उपयोगी है। इसकी प्रत्येक चौपाई राम से प्रारंभ होती है। इस पुस्तक में प्रत्येक पंक्तियां इस क्रम से रखी गई है कि भक्तों को राम का दार्शनिक रूप, उनके मर्यादा पुरुषोत्तम रूप, कर्तव्य निष्ठा, भक्त वत्सल आदि गुण बड़ी ही सरलता से स्पष्ट हो जाती है। उन्होंने कहा कि ‘राम कृपा नासाहि सब रोगा, जो यही भागी बने संजोगा’ के अनुसार इस कोरोना महामारी के संकट काल में जहां देश व पूरी दुनिया त्रस्त है, इस मानस की चौपाइयों के पाठ से सबका कल्याण होना निश्चित है। इस पुस्तक में शुभकामना देते हुए राम जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास जी ने कहा है कि संत शिरोमणि परमहंस राममंगल दास जी महाराज द्वारा संग्रहित इस अनुपम ग्रंथ के प्रकाशन हेतु हार्दिक शुभकामनाएं हैं। इसके पाठ से भक्तों का हर प्रकार से मंगल होगा।
इस पुस्तक के विमोचन के अवसर पर ब्रह्म कुंड गुरुद्वारा के ज्ञानी जी के साथ गोकुल भवन के महंथ परशुराम दास जी, सचिव प्रकाश चंद शुक्ल, वरिष्ठ पत्रकार अशोक मिश्र व अक्षयपात्र के कुलदीप तिवारी बतौर अतिथि उपस्थित थे।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.