रिलायंस जियो के मार्केट में आने के बाद बाकी टेलिकॉम कंपनियों की हालात खराब हो गई है। इतना ही नहीं, टेलिकॉम सेक्टर में बड़ा उथल-पुथल देखने को मिल सकता है। पिछले कुछ दिनों से देश की तीसरी सबसे बड़ी टेलिकॉम कंपनी आइडिया के वोडाफोन में विलय की संभावनाएं भी बन रही हैं। जिसके बाद आइडिया सेल्युलर के शेयरों में 18 जनवरी के बाद 15% से ज्यादा की तेजी आई है। अगर दोनों का विलय हुआ तो यह भारत की सबसे बड़ी टेलिकॉम कंपनी बनेगी।

आइडिया ने तीसरी तिमाही के नतीजों पर विचार करने के लिए 23 जनवरी को होने वाली बैठक को टाल दिया जिसके बाद इन अटकलों को और बल मिला है। ये अभी तक संभावित है क्योंकि इस मुद्दे पर अभी तक कोई बैठक नहीं हो पाई है। हालांकि, कई शीर्ष के बैंकर्स ने इस बात को माना है कि आइडिया और वोडाफोन के बीच विलय की बात सही है। लेकिन इसका अभी तक औपचारिक प्रमाण सामने नहीं आया है।

गौरतलब हो कि जीयो के मार्केट में आने के बाद अन्य टेलिकॉम कंपनियों के मुनाफे पर बहुत ज्यादा असर पड़ा है। दिसंबर 2016 के तिमाही में देश की सबसे बड़ी टेलिकॉम कंपनी एयरटेल के मुनाफे पर 55 फीसदी का असर पड़ा है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.