रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने सोमवार को एक बड़ी कार्रवाई की. RBI ने यूनियन बैंक ऑफ इंडिया पर 1 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया. यह कार्रवाई बट्टे खाते में पड़ी संपत्तियों की बिक्री और फ्रॉड के बारे में सूचना देने से जुड़े नियमों के उल्लंघन को लेकर की गई है. हाल में आरबीआई ने देश के कई बड़े और छोटे बैंकों के खिलाफ एक्शन लिया है जिनमें देश का सबसे बड़ा बैंक स्टेट बैंक भी शामिल है. इसी के साथ कई सहकारी बैंकों पर भी कार्रवाई हुई है.
RBI के निरीक्षण में पता चला कि जिन खातों को खतरे की श्रेणी में (रेड फ्लैग) में डाला गया है, उनसे जुड़े नियमों का पालन सही तरीके से नहीं किया गया. खतरे की श्रेणी वाले खातों का सही तरीके से क्लासिफिकेशन भी नहीं किया गया. रिजर्व बैंक ने इन खातों के बारे में यूनियन बैंक को पहले ही आगाह किया था, इसके बावजूद बैंक ने इसमें ढिलाई बरती. यूनियन बैंक ने अपनी एनुअल रिपोर्ट में सिक्योरिटी रिसीट के प्रावधानों के बारे में नहीं बताया. रिजर्व बैंक ने इसके बाद आर्थिक दंड लगाने की कार्रवाई पूरी की.
ट्रांजेक्शन पर कोई असर नहीं
रिजर्व बैंक ने अपने बयान में साफ किया है कि यूनियन बैंक के खिलाफ इस कार्रवाई से बैंक के किसी भी ट्रांजेक्शन या एग्रीमेंट पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा. आरबीआई ने कहा कि रेगुलेशन से जुड़े नियमों के उल्लंघन को लेकर यह एक्शन लिया गया है. किसी भी ट्रांजेक्शन या एग्रीमेंट की वैधता पर इस कार्रवाई का कोई असर नहीं होगा. यूनियन बैंक ने अपने ग्राहकों के साथ जो भी करार किया है जो सर्विस देने का नियम है, वह पहले की तरह चलता रहेगा.
SBI पर भी हो चुकी है कार्रवाई
इससे पहले 26 नवंबर को, आरबीआई ने कुछ नियमों के उल्लंघन के लिए देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) पर जुर्माना लगाया था. आरबीआई ने स्टेट्यूटरी इंसपेक्शन (आईएसई) में नियमों में ढिलाई को लेकर कार्रवाई की. आरबीआई ने 31 मार्च, 2018 और 31 मार्च, 2019 को अपनी वित्तीय स्थिति के संदर्भ में निरीक्षण किया जिसके बाद यह कार्रवाई की गई.
पहले भी लिया एक्शन
पिछले हफ्ते RBI ने रेगुलेशन से जुड़े नियमों का पालन नहीं करने पर टाटा कम्युनिकेशंस पेमेंट सॉल्यूशंस लिमिटेड (TCPSL) और एपनिट टेक्नोलॉजीज प्राइवेट लिमिटेड (ATPL) पर जुर्माना लगाया. बैंक ने टीसीपीएसएल पर दो करोड़ रुपये और एटीपीएल पर 54.93 लाख रुपये का जुर्माना लगाया. RBI ने एक बयान में कहा, ‘यह पाया गया है कि टीसीपीएसएल ने व्हाइट लेबल एटीएम लगाने और नेटवर्थ संबंधी निर्देशों का पालन नहीं किया. वहीं एटीपीएल ने एस्क्रो खातों में बैलेंस और नेटवर्थ से जुड़े नियमों का पालन नहीं किया.’ आरबीआई ने कॉमर्शियल जगहों पर पेमेंट के लिए पीएसओ मशीनों लगाने वाली इन दोनों कंपनियों को नोटिस भी भेजा था. उनसे मिले जवाब की समीक्षा के बाद केंद्रीय बैंक ने उन पर जुर्माना लगाने का फैसला किया है.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.