lpgनई दिल्ली। मुकेश अंबानी के नेतृत्व वाली रिलायंस इंडस्ट्रीज, रिलायंस जियो सीम तूफान मचाने के बाद अब रसोई गैस सिलेंडर के कारोबार में भी उतर आई है। पायलट प्रोजेक्ट के तहत कंपनी ने चार किलो वाले एलपीजी गैस सिलेंडर लांच किए हैं। जो इन्हें चार जिलों में बांटा जा रहा है।

देशभर के सबसे बड़े रिफाइनिंग कांप्लेक्स का संचालन करने वाली कंपनी ने दूसरी तिमाही के नतीजों पर इंवेस्टर प्रजेंटेशन में इसका एलान किया। देश में एलपीजी की खपत सालाना 10 फीसद के हिसाब से बढ़ रही है। ऐसे में आरआईएल और एस्सार ऑयल जैसी निजी रिफाइनिंग कंपनियां भी मौके का फायदा उठाने की कोशिश में हैं।

रिटेल एलपीजी बाजार पर अभी सरकारी कंपनियों इंडियन ऑयल, भारत पेट्रोलियम और हिंदुस्तान पेट्रोलियम का कब्जा है। ये कंपनियां 5 किलो, 14.2 किलो, 19 किलो के एलपीजी सिलेंडर में बेच रही हैं। हर साल 14.2 किलो के 12 सिलेंडर और 5 किलो वाले 34 सिलेंडर सब्सिडी वाली दरों पर बेचे जाते हैं। इसके ऊपर बाजार मूल्य पर बिक्री होती है। 19 किलो के सिलेंडर वाणिज्यिक उपयोग के लिए हैं।

निजी कंपनियां सरकारी सब्सिडी की हकदार नहीं हैं। उन्हें बाजार मूल्य पर ईंधन बेचना होगा। लेकिन सरकार जैसे सब्सिडी घटाने की दिशा में आगे बढ़ रही है। और उसने वार्षिक 10 लाख से ज्यादा की आय वाले ग्राहकों को सब्सिडी युक्त सिलेंडर लेने से रोका है, उससे निजी कंपनियों के लिए बना बनाया मार्केट उपलब्ध है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.