mobile

देश में इस साल जून के अंत तक मोबाइल उपभोक्ताओं की संख्या 103.5 करोड़ पहुंच गई है। वहीं सार्वजनिक क्षेत्र की बीएसएनएल फिर से शीर्ष पांच दूरसंचार सेवाप्रदाता कंपनियों में शामिल हो गई है। इस क्षेत्र के नियामक ट्राई ने कहा कि जून के अंत तक देश में मोबाइल और लैंडलाइन उपभोक्ताओं की कुल संख्या 105.98 करोड़ हो गई है जो मई 2016 में 105.8 करोड़ थी। यह क्षेत्र में मासिक आधार पर 0.17 प्रतिशत की वृद्धि को दिखाता है।

अपनी मासिक रिपोर्ट में ट्राई ने कहा कि इसी के साथ जून के अंत तक देश में दूरंसचार घनत्व (आबादी के अनुपात में फोन कनेक्शन) बढ़कर 83.20 हो गया है जो मई में 83.14 था। ट्राई ने कहा कि देश में मोबाइल उपयोक्ताओं की संख्या में 0.19 प्रतिशत की वृद्धि देखी गई और मई 2016 के 103.3 करोड़ से बढ़कर जून 2016 के अंत तक यह 103.5 करोड़ हो गई। इसी तरह लैंडलाइन के ग्राहको की संख्या जून में घटकर 2.47 करोड़ हो गई, मई में यह संख्या 2.48 करोड़ थी।

भारती एयरटेल के मोबाइल उपभोक्ताओं की संख्या में 14 लाख नए ग्राहक जुड़े हैं और उसके ग्राहकों की कुल संख्या 25.57 करोड़ पर पहुंच गई है। सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी बीएसएनएल नए उपभोक्ता जोड़ने में दूसरे स्थान पर रही है और इसने 13 लाख नए ग्राहक जोड़े हैं। इस प्रकार उसके ग्राहकों की कुल संख्या 8.95 करोड़ हो गई। इसी के साथ वह एयरसेल को पछाड़ते हुए देश की पांचवीं प्रमुख कंपनी के स्थान पर वापस लौट आई जो उससे अप्रैल 2015 में छिन गया था। इस सूची में 19.94 करोड़ ग्राहकों के साथ वोडाफोन, 17.62 करोड़ ग्राहकोंे के साथ आइडिया भी शामिल हैं।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.