देश की प्रमुख आईटी सेवा प्रदाता कंपनी इन्फोसिस केनामित सीइओ विशाल सिक्का का सालना वेतन 30 करोड़ रुपये या 50 लाख डॉलर होगा। इसके बाद सिक्का देश के निजी उद्योग (तकनीकी ) में सर्वाधिक वेतन पाने वालों की सूची में शीर्ष पर आ जाएंगे।
कंपनी ने ईजीएम के लिए बीएसई को दी गई जानकारी में कहा है कि, सिक्का का सालना आधार वेतन 9 लाख डॉलर और वैरिएबल वेतन 4.18 लाख डॉलर होगा। इसके साथ ही उन्हें 20 लाख डॉलर के शेयर भी दिए जाऐंगे।
इसके साथ ही कंपनी अपनी विशेष वार्षिक बैठक के लिए शेयरधारकों की अनुमति का इंतजार है। इससे पहले जर्मनी की कंपनी सैप(एसएप) में सिक्का को 57.5 लाख डॉलर (वेतन और अतिरिक्त लाभ ) का मेहनताना मिलता था।
इन्फोसिस लिमिटेड अपने नए मुख्य कार्यकारी विशाल सिक्का को 20 लाख डॉलर के शेयर विकल्प के अलावा 50.8 लाख डालर तक का सालाना वेतन दिया जाएगा। हालांकि, माना जा रहा है कि यह वैश्विक कंपनियों के मुख्य कार्यकारियों को मिल रहे वेतन से कम है।
इन्फोसिस में 47 वर्षीय सिक्का एसडी शिबूलाल की जगह लेंगे और। अगस्त को जिम्मेदारी संभालेंगे। साफ्टवेयर सेवाओं का निर्यात करने वाली भारत की दूसरी सबसे बड़ी कंपनी ने सिक्का को नए मुख्य कार्यकारी के तौर पर नियुक्त करने को मंजूरी प्रदान करने के लिए 30 जुलाई को असाधारण आम बैठक बुलाने के लिए एक परिपत्र जारी किया था।
परिपत्र के मुताबिक सिक्का को सालाना 9,00,000 डालर का मूल वेतन और 41.8 लाख डॉलर का सालाना परिवर्तनशील वेतन दिया जाएगा।सैप के पूर्व कार्यकारी रहे सिक्का को 20 लाख डालर का सालाना शेयर विकल्प भी प्रदान किया जाएगा। सिक्का को शेयर विकल्प समेत कुल 70.8 लाख डॉलर का वेतन मिलेगा जबकि माइक्रोसाफ्ट अपने मुख्य कार्यकारी को 1.8 करोड़ डॉलर, आईबीएम के मुख्य कार्यकारियों को 62 करोड़ डॉलर और सिटी बैंक के प्रमुख को 1.44 करोड़ डॉलर का वेतन मिलता है।
imfosaysबहुत से शीर्ष अधिकारियों के कंपनी छोड़कर जाने के मद्देनजर पिछले महीने इन्फोसिस ने पहली बार कंपनी से बाहर के व्यक्ति विशाल सिक्का को अपना मुख्य कार्यकारी बनाया और इसके संरक्षक एन आर नारायण मूर्ति और उनके पुत्र ने अपना कार्यकाल समाप्त होने के चार साल पहले इस्तीफा दे दिया।सिक्का इससे पहले जर्मनी की सूचना प्रौद्योगिकी कंपनी सैप के कार्यकारी निदेशक थे। वह एसडी शिबूलाल की जगह लेंगे जो उन सात इंजीनियरों में शामिल थे जिन्होंने। अगस्त 1981 को इन्फोसिस की स्थापना की थी।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.