नई दिल्ली। फेसबुक के कई शेयरहोल्डर्स ने बुधवार को फाउंडर मार्क जुकरबर्ग के खिलाफ उस प्रस्ताव का समर्थन किया जिसमें जुकरबर्ग को बोर्ड चेयरमैन के पद से हटाने की मांग की गई है। इस प्रस्ताव में कहा गया है कि उन्होंने सोशल मीडिया नेटवर्क से जुड़े कई विवादों को ठीक से हैंडल नहीं किया था।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, ये प्रस्ताव ट्रिलियम एसेट मैनेजमेंट ने जून में पेश किया गया था। इसके अलावा इलिनोइस, रोड आइलैंड और पेंसिल्वेनिया के स्टेट ट्रेजरर ने भी प्रस्ताव दिया था। वहीं, न्यूयॉर्क सिटी कंप्ट्रोलर स्कॉट स्ट्रिंगर ने इसका समर्थन किया था। प्रस्ताव में कहा गया है कि बोर्ड के अध्यक्ष के स्वतंत्र न रहने और निरीक्षण की कमी के चलते अमेरिकी चुनाव में रूस के हस्तक्षेप और कैंब्रिज एनालिटिका डाटा लीक सरीखे मामले पर फेसबुक ने सही से काम नहीं किया।

फेसबुक ने इस मामले पर कोई टिप्पणी नहीं की है। स्ट्रिंगर ने इस मामले पर कहा, ‘फेसबुक हमारे समाज और अर्थव्यवस्था में एक अहम भूमिका अदा करता है। उनकी सामाजिक और आर्थिक जिम्मेदारी है कि वह पारदर्शी बनें। हम यही मांग कर रहे हैं कि कंपनी का बोर्डरूम स्वतंत्र और जिम्मेदार हो।’ अप्रैल में की गई फाइलिंग के अनुसार जुकरबर्ग के पास वोटिंग के साठ फीसदी शेयर हैं।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.