सार्वजनिक क्षेत्र की इंडियन ऑयल कारपोरेशन (आईओसी) सहित 8 भारतीय कंपनियां फॉर्च्यून की ताजा वैश्विक-500 सूची में जगह बनाने में कामयाब रही हैं। दो साल बाद इस सूची में अमेरिकी रिटेलर वॉल-मार्ट एक बार फिर से शीर्ष स्थान पर रही है।

इस सूची में जो अन्य भारतीय कंपनियां शामिल हैं, उनमें रिलायंस इंडस्ट्रीज, बीपीसीएल, एचपीसीएल, एसबीआई, ओएनजीसी तथा टाटा मोटर्स शामिल हैं। विशेष बात यह है कि सिर्फ टाटा मोटर्स ही सूची में अपना स्थान सुधार पाई है।

वहीं सात अन्य कंपनियां सूची में नीचे खिसकी हैं। वैश्विक स्तर पर वॉल-मार्ट ने उर्जा क्षेत्र की बड़ी कंपनी रायल डच शेल को 2014 की सूची में दूसरे स्थान पर धकेल दिया है। इनके बाद सूची में सिनोपेक समूह और चाइना नेशनल पेट्रोलियम क्रमश: तीसरे व चौथे स्थान पर हैं।

वॉल-मार्ट 476.29 अरब डॉलर की कमाई के साथ पहले स्थान पर रही है। वहीं सूची में शीर्ष भारतीय कंपनी आईओसी का कारोबार 81.32 अरब डॉलर रहा है। इस सूची में सिर्फ आईओसी ही ऐसी भारतीय कंपनी है जो शीर्ष 100 में जगह बना पाई है। आईओसी सूची में 96वें स्थान पर रही है।reliance

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.