मुंबई। भारतीय रिजर्व बैंक ने आज कहा कि भारत ने अमेरिका के विदेशी कर अनुपालन कानून को लागू करने पर सहमति जताई है और बैंकों व वित्तीय संस्थानों से कहा है कि वे अमेरिकियों खातों व संपत्तियों की सूचना के आदान प्रदान के लिए इस साल के अंत तक अपना पंजीकरण करवा लें।
भारत व अमेरिका ने विदेशी खाता कर अनुपालन कानून (फटका) के कार्यान्वयन पर सहमति जता है। अमेरिका विदेशी खाते और सम्पत्ति रखने वाले अपने नागरिकों से कर कानूनों का अनुपालन सुनिश्चित कराने के उद्येश्य से यह कानून बनाया है और इस पर भारत समेत विदेशी सरकारों से सहयोग ले रहा है। भारत के साथ यह अंतर सरकारी समझौता है 11 अप्रैल से प्रभावी हो गया और इस पर कैबिनेट की मंजूरी के बाद ही हस्ताक्षर होंगे। रिजर्व बैंक ने इस बारे में एक अधिसूचना जारी की है। इसके अनुसार, भारतीय वित्तीय संस्थानों के पास अमेरिकी अधिकारियों के पास पंजीकरण कराकर ग्लोबल इंटरमीडियरी आइडेंटिफिकेशन नंबर पाने के लिए 31 दिसंबर 2014 तक का समय है। े reserve bank

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.