modi ing20 चीन के हांगझोउ शहर में आयोजित जी-20 सम्मेलन के दूसरे दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने भाषण में कहा, ‘प्रभावी वित्तीय संचालन के लिए भ्रष्टाचार, कालाधन और कर चोरी से निपटना महत्वपूर्ण है।’

इसके लिए नरेंद्र मोदी ने लगाम कसने के लिए सदस्य देशों से मदद की अपील की है। मोदी ने ने सदस्य देशों से कहा कि उन्हें अत्यधिक बैंकिंग गोपनीयता खत्म करने की ओर कदम बढ़ान चाहिए। पीएम ने कहा कि प्रभावी वित्तीय संचालन के लिए भ्रष्टाचार के खिलाफ पहल करने के वास्ते पूर्ण प्रतिबद्धता और आर्थिक अपराधियों के लिए सुरक्षित पनाहगाह खत्म करने की जरूरत है।

भागीदारी बढ़ाएंगे भारत और ब्रिटेन
प्रधानमंत्री ने इसके साथ ही विकास और सहयोग के लिए अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष से लगातार बातचीत करने पर जोर दिया है। जी-20 देशों की बैठक के दूसरे और अंतिम दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ब्रिटेन की प्रधानमंत्री थेरेसा से भी मुलाकात की। बैठक में दोनों देशों के बीच कई मुद्दों पर चर्चा हुई। दोनों देश आपसी सामरिक भागीदारी बढ़ाने को लेकर भी राजी हुए। पीएम मोदी ने ब्रिटेन की पीएम को भारत आने का निमंत्रण भी दिया।

जिनपिंग ने सराहा
इससे पहले, जी-20 की अहम बैठक के दौरान रविवार को पीएम मोदी ने चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग से मुलाकात की थी। इस मुलाकात के दौरान एनएसजी पर चीन के सहयोग को लेकर भी बातचीत हुई। प्रधानमंत्री ने जिनपिंग से मुलाकात करते हुए कहा कि भारत और चीन की भागीदारी केवल इस क्षेत्र के लिए ही नहीं, बल्कि पूरे विश्व के लिए महत्वपूर्ण है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.