लक्ष्मीकांत बाजपेयी, कमाल फारूकी जैसे वरिष्ठï विपक्षी नेताओं ने की आलोचनाdohra
कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने एमआईएमद्ध के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी और आरएसएस मुखिया मोहन भागवत की फोटो ट्वीट करके विरोधियों के निशाने पर हैं। दिग्विजय ने इस ट्वीट में एक फोटो लगाया है, जिसमें आधा चेहरा असदुद्दीन ओवैसी और मोहन भागवत का है। उसपर लिखा है दोहरा चरित्र……. शर्म करो।
असदुद्दीन ओवैसी इसे लेकर दिग्विजय पर भडक़ उठे। उन्होंने कहा, मुझे समझ नहीं आता कि मेरी आधी तस्वीर के साथ मोहन भागवत की आधी तस्वीर लगाई गई है, मेरी नहीं तो मुसलमानों की तो इज्जत ना उतारो। इस तरह की बेइज्जती से तो मैं कब्र में जाना पसंद करूंगा। कांग्रेस के नेताओं से मैं पूछना चाहूंगा कि आज तक देश में जितने भी दंगे हुए हैं तब कांग्रेस की ही हुकूमत थी। तब क्या सोशल फैब्रिक को नुक्सान नहीं पहुंचा। जो तुम कहोगे उसका जवाब मिलेगा, जिस तरह चाहोगे उस तरह जवाब मिलेगा। वो वक्त आएगा जब तुम और गुमनामी में चले जाओगे। तेलंगाना में अगर कोई बीजेपी और आरएसएस के सामने खड़ा है तो बस वो मजलिस है। वहीं यूपी बीजेपी के अध्यक्ष लक्ष्मीकांत बाजपेयी ने कहा है कि दिग्विजय सिंह अपना वजूद बचाने के लिए ऐसी हरकतें कर रहे हैं। उन्होंने इसे सोशल मीडिया का गलत इस्तेमाल बताया। उन्होंने कहा कि दिग्विजय सिंह अपने अस्तित्व को बचाने के लिए ये कर रहें हैं। कहां लिखा है कि सैद्धांतिक तौर पर कोई बात नहीं कर सकते। सोशल मीडिया का गलत प्रयोग है, इसकी जांच हो। समाजवादी पार्टी के पूर्व नेता कमाल फारुकी ने भी दिग्विजय सिंह की निंदा की है। उन्होंने कहा कि दिग्विजय को ये तस्वीर शेयर नहीं करनी चाहिए थी। दिग्विजय रिपोर्टर नहीं हैं, उन्हें इन तस्वीरों से गुरेज करना चाहिए। दिग्विजय सिंह बताएंगें कि क्या आगे कांग्रेसी औवैसी के साथ नहीं जाएंगे। सिंह को ये सब नहीं करना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.