महोना नगर पंचायत के चुनावों में सियासी दलों ने कोई खास दिलचस्पी नहीं दिखलाई है। कांग्रेस ने तो इस नगर पंचायत में कोई प्रत्याशी ही चुनाव मैदान में नहीं उतारा है। भाजपा ने नगर पंचायत अध्यक्ष समेत पांच पदों के लिए अपनी प्रतिष्ठïा दांव पर लगाई है लेकिन निर्दलीय प्रत्याशी बहुसंख्य है। वैसे नगर पंचायत में 37 निर्दलीय प्रत्याशी चुनावी समर में कूदे है, जो कि चुनावी नतीजों को खासा असर डालेंगे।
महोना नगर पंचायत अध्यक्ष के लिए भाजपा ने सरस्वती देवी को चुनाव मैदान में उतारा है। उनके खिलाफ निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर पुत्तीलाल, रमेश चंद्र, रेशमा देवी चुनाव मैदान में उतरी हैं।
वैसे तो इस नगर पंचायत में सबसे कम अध्यक्ष पद के दावेदार चुनाव मैदान में है लेकिन यहां भी वोट के लिए मारामारी कम नहीं है। इस नगर पंचायत के दस वार्डो का भी यहीं हाल है। वार्ड एक में तो पांच निर्दलीय प्रत्याशियों में सीधी टक्कर है। किसी भी राजनीतिक दल ने प्रत्याशी यहां नहीं उतारा है। हर प्रत्याशी अपने सम्बन्धों व समाजसेवी कार्यो के बूते पर वोट मांग रहा है। वार्ड दो में भाजपा ने अशर्फी लाल को जरूर उतारा है लेकिन वह भी आठ निर्दलीय प्रत्याशियों से घिरे हुए है।
वार्ड तीन में सिर्फ तीन निर्दलीय प्रत्याशी चुनाव मैदान में है। यहां भी निर्दलीय प्रत्याशियों के बीच में सीधी टक्कर है। वार्ड चार में भी पांच निर्दलीय प्रत्याशी आमने-सामने हैं। वार्ड पांच में भी तीन निर्दलीय
प्रत्याशी है।
उनमें ही सीधा मुकाबला है। वार्ड छह में भाजपा ने योगेश कुमार को जरूर उतारा है। उनका मुकाबला दो निर्दलीय प्रत्याशियों से हो रहा है। वार्ड सात में भाजपा के शैलू व निर्दलीय रामकली आमने-सामने हैं। वार्ड आठ में चार निर्दलीय प्रत्याशी चुनावी समर में कूदे है। वार्ड नौ में पांच निर्दलीय प्रत्याशी ही किस्मत आजमा रहे है। वार्ड दस में भाजपा की अनी व निर्दलीय बरकतुन का सीधा मुकाबला देखने को मिल रहा है। वैसे नगर पंचायत के परिणामों को निर्दलीय प्रत्याशियों की महत्वपूर्ण भूमिका हो सकती हैं।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.